जजों पर पहली बार एक सांसद की टिप्पणी.. “मिशनरी स्कूलों में पढ़ने वालों को क्या पता श्रीराम व श्रीकृष्ण के बारे में”

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण में हो रही देरी को लेकर भारतीय जनता पार्टी के सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने सनसनीखेज बयान दिया है, जिस पर विवाद खडा हो गया है. भाजपा सांसद कुशवाहा ने कोर्ट में मंदिर का मामला लंबित होने के चलते जजों पर ही टिप्पणी कर दी. ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी सांसद ने जजों पर टिप्पणी की है. सांसद कुशवाहा ने कहा कि देश की इच्छा है कि अयोध्या में अब बिना देरी किए भव्य राम मंदिर का निर्माण हो. उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट के भरोसे मंदिर नहीं बनने वाला. सुप्रीम कोर्ट में बैठ जज इसाइयों के मिशनरी स्कूलों में पढ़े हैं, उन्हें राम कृष्ण की जानकारी नहीं है.

उत्तर प्रदेश के सलेमपुर लोकसभा सीट से भाजपा सांसद रवींद्र कुशवाहा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण मामले पर एक जनसभा में कहा, सभी की इच्छा है, पूरे देश की इच्छा है कि अयोध्या में अब भव्य राम मंदिर बनना चाहिए. हमारी केंद्र और उत्तर प्रदेश में सरकार है. अगर अब मंदिर नहीं बना तो फिर कभी नहीं बनेगा. कुशवाहा ने अपने भाषण में जजों को निशाने पर लेते हुए कहा कि हिंदुस्तान के सुप्रीम कोर्ट के भरोसे कभी राम मंदिर नहीं बनेगा क्योंकि कोर्ट में बैठे जज ईसाइयों के मिशनरी स्कूलों में पढ़े हैं. जजों को अपने आदर्श राम कृष्ण से कोई लेना देना नहीं है. इसके साथ ही कुशवाहा ने अपनी पार्टी के नेताओं से मांग की कि बिना देर किए मंदिर बनाने पर फैसला लेना चाहिए.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW