एक नया दावा जिसमे कहा गया – “उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के लिए अखिलेश करें कम से कम 50 साल इंतज़ार, तब तक हिला नही सकते BJP को”


समाजवादी पार्टी के मुखिया तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खिलाफ ये सिर्फ एक दावा ही नहीं है बल्कि उनकी सीधी चुनौती भी है. एकतरफ अखिलेश यादव ये दावा कर रहे हैं कि 2022 के उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को उखाड़ फेंकेगे तथा राज्य में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो वहीं दूसरी तरफ अखिलेश यादव के इस दावे तथा लक्ष्य के जवाब में बीजेपी की तरफ से भी तगड़ा पलटवार किया गया है.

2022 में उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार को मात देकर सपा की सरकार बनाने का दावा करने वाले सपा मुखिया अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए बीजेपी ने कहा है कि 2022 तो छोड़िए, अखिलेश यादव अगले 50 साल तक भी यूपी के मुख्यमंत्री नहीं बन सकते हैं. बीजेपी की तरफ से अखिलेश यादव को ये जवाब पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने दिया है. उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सोमवार को एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए प्रयागराज आये हुए थे जहां उन्होंने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला. उन्होंने अखिलेश यादव द्वारा साल 2022 में सरकार बनाने की बात पर कहा कि 2022 तो छोड़िए अगले 50 वर्षों तक उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार रहेगी. केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि यूपी ही नहीं बल्कि केंद्र में भी अगले 50 वर्ष तक भाजपा की सरकार रहेगी.

मौर्य ने कहा कि बीजेपी की सरकार को 50 साल तक यूपी और केंद्र से कोई नहीं हटा सकता है. उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार गरीब, किसान और कमजोर तबकों की सरकार है. इसका एक ही उदेश्य है गरीबी हटाना, जनता का विकास करना और देश को शक्तिशाली बनाना. उन्होंने कहा कि केंद्र तथा यूपी की बीजेपी सरकार जनता के हित में काम कर रही है, देशहित में काम कर रही है, ऐसे में सपा अध्यक्ष को 50 साल बाद ही सरकार बनाने के बारे में सोचना चाहिए.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share