Breaking News:

जारी है राजीव गांधी के नाम के खिलाफ आक्रोश. लुधियाना में मूर्ति पर कालिख के बाद अब राजीव चौक मेट्रो पर राजीव नाम पर पोती गयी कालिख

अचानक ही राजीव गांधी के नाम के विरुद्ध एक प्रकार से जनाक्रोश फ़ैल गया है . सज्जन कुमार जो राजीव गांधी के बेहद खास थे उनको सजा और कमलनाथ जो राजीव के बहुत करीबी थे उनके मुख्यमंत्री बन जाने के बाद सरदारों में गुस्सा भड़क गया है और उन्होंने दंगा पीडितो के समर्थन में तमाम ऐसे कार्य शुरू कर दिए जो संवैधानिक सीमाओं के पार हैं . सिख दंगा पीडितो की खबरों को सुदर्शन न्यूज ने विस्तार से अपने चलते चलते शो में दिखाया था .

अब तक मिली जानकारी के हिसाब से 1984 में हुए दंगों के पीड़ितों ने राजीव चौक पर राजीव नाम पर कालिख पोती है. दंगा पीड़ितों ने कहा कि राजीव गांधी 1984 का कातिल है और उसके नाम पर जो भी चीजें हैं वह हटाने चाहिए. इस दौरान दंगा पीड़ितों ने राजीव गांधी का नाम हटाकर भगत सिंह रखने की मांग की. राजीव के नाम से गुस्साएं पीड़ितों ने कहा कि दिल्ली में जहां पर भी राजीव का नाम है वह उन सब पर कालिक पोतेंगे.

अभी कुछ समय पहले ही पंजाब के लुधियाना में कथित तौर पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मूर्ति पर कालिक पोते जाने का मामला बहुत बड़ी चर्चा का विषय बना था लेकिन वही आक्रोश अब उस दिल्ली तक पहुच गया है . ध्यान देने योग्य है कि राजीव चौक दिल्ली के सबसे व्यस्त मेट्रो स्टेशनों में से एक है जिसमे चौक के बजाय राजीव के नाम पर कालिख पोती गयी है और अपने गुस्से का इजहार किया गया है .  रहने वाले राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर जहां राजीव लिखा गया था, उस पर कालिख पोती गई है.

 

 

Share This Post