Breaking News:

BSF घंटो चिल्लाई कि चले जाओ यहाँ से. पर पत्थरबाज़ नहीं माने . फिर BSF ने किया उन्हें खामोश, अपने अंदाज़ में

दिल्ली से कश्मीर तक अपने लिए मीठे और प्रोत्साहित करने वाले आज़ादी के योद्धा और मासूम जैसे शब्दों को सुन कर आततायी बन चुके पत्थरबाजों की हिमाकत को रोकने के लिए सेना और सुरक्षा बलों ने  भी कमर कस ली है . इसी क्रम में BSF ने एक पत्थरबाज को मार गिराया जो बार बार चेतावनी देने के बाद भी दिल्ली और श्रीनगर के समर्थकों के दम पर हटने को तैयार नहीं था . 


मामला कश्मीर श्रीनगर के बातमालू क्षेत्र के रेका चौक का है . यहाँ रेका चौक पर अचानक ही तमाम पत्थरबाज जमा हो गए जो BSF की निगरानी में था . उपद्वियों की भीड़ ने अचानक ही चुप और शांत बैठे BSF जवानो पर पत्थरों की बौझार कर दी . पत्थरों की बौझार को रोकने के लिए BSF ने काफी धैर्य दिखाया . फिर कई बार चेतावनी भी जारी की . BSF बार बार उन पत्थरबाजों को वापस लौटने का आदेश देती रही पर वो किसी भी आदेश से बिना विचलित हुए पत्थरबाजी करते गए.


पत्थरों की बौझार से वहां हंगामा मच गया और अफरातफरी मच गयी . फिर हालत बद से बदतर होते देख कर BSF ने मोर्चा संभाला और अंतिम चेतावनी जारी की जिसका भी कोई असर नहीं पड़ा . अंत में BSF ने गोली चलाई जो पत्थर चला रहे कष्मीर के बारामुला क्षेत्र के चंदुसा में रहने वाले सज़्ज़ाद हुसैन शेख को ढेर कर गयी . उसके बाद वहां से पत्थरबाजों का भागना शुरू हो गया .. 


पत्थरबाज़ की मौत के बाद वहां दुकाने बंद होनी शुरू हो गयी . व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कर के पत्थरबाज के प्रति संवेदना जताई गयी . BSF सूत्रों का कहना है की अभी गोली चलाने या ना चलाने की आधिकारिक पुषिट के लिए थोड़ा समय लगेगा क्योंकि अभी पूरे मामले की जांच चल रही है . 

Share This Post