उबर ने टॉप अधिकारी अमित सिंघल को नौकरी से निकाला, छुपाया था यौन शोषण का आरोप

नई दिल्ली : उबर टेक्नोलॉजी ने अपने सीनि‍यर एग्जीक्यूटिव अमि‍त सिंघल को इस्तीफा देने के लिए कहा है। अमित सिंघल को अपनी पुरानी कंपनी अल्फाबेट इंक (गूगल) में कार्य करने के दौरान लगे यौन शोषण के आरोप को छिपाने के लिए हटाया गया है। गूगल में काम करने के दौरान अमित सिंघल पर यौन शोषण का आरोप लगा था।

उसके बाद वहां से उन्होंने इस्तीफा देने के बाद तकरीबन एक महीने पहले उबर में सॉफ्टवेयर हेड के रूप में ज्वा इन किया। यहां अमित सीनियर वाइस प्रेजीडेंट बनाया गया। 20 जनवरी को वहां उन्होंने ज्वाइन किया था। दरअसल, उस दौरान सिंघल ने अपने खिलाफ मामले के बारे में न ही बताया था और उबर को भी मालूम नहीं चला था।

ज्वाइन करने के बाद उबर को मालूम चला कि गूगल में उनके खिलाफ यौन शोषण के आरोप की जांच की जा रही है। उबर की ओर से यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब कंपनी खुद संगठन के अंदर लगने वाले यौन शोषण के आरोपों की जांच कर रही है। वहीं, अमित सिंघल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि मैंने इस तरह का कोई बर्ताव नहीं किया है।

अमित ने कहा कि 20 साल के करियर में मेरे ऊपर किसी भी तरह का कोई आरोप नहीं लगा है। मेरे खिलाफ कि‍सी भी तरह के हैरेसमेंट की बात सही नहीं है। सभी को यह बताना चाहता हूं कि मैं कोई माफी नहीं मांगूंगा। उन्होंने आगे कहा कि गूगल छोड़ने का फैसला मेरा खुद का था।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW