उधर जंग के मुहाने पर खड़ा है भारत , इधर ये पार्टी कर रही गौ रक्षकों पर सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा

शायद उनके हिसाब से आतंकवाद , पाकिस्तान , नक्सलवाद , प्रांतवाद , भाषावाद जैसे मुद्दे उतने महत्वपूर्ण नहीं हैं और उन्हें देश की एकता और अखंडता के खिलाफ सबसे बड़ा शत्रु गौ रक्षक ही दिख रहा है तभी तो कुछ गिने चुने उदाहरणों के साथ वो पूरे भारत के विभिन्न प्रदेशों की सरकारों को निशाने पर ले रहे हैं ।।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तहसीन पूनावाला ने दो अन्य लोगों के साथ मिल कर सुप्रीम कोर्ट में गौ रक्षकों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को ले कर याचिका दाखिल की है .. याचिका में उनका तर्क है कि गौ रक्षा के नाम पर दादागीरी और गुंडागर्दी हो रही है जिसमे कुछ निर्दोष मुस्लिम मारे भी गए हैं , याचिका में ऐसे गौ रक्षको के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग करते हुए इसके निर्देश राज्य सरकारों को देने की मांग की गई हैं ..

कांग्रेस नेता की इस याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस दीपक मिश्रा जी ने सम्बंधित राज्य सरकारों से जवाब मांगा है .. खास बात ये है कि याचिका में कांग्रेस नेता ने ज्यादातर उन्ही प्रदेशों को चिन्हित किया है जहां भाजपा की सरकारें हैं ..

न्यायमूर्ति श्री दीपक मिश्रा ने सुनवाई 6 सप्ताह के लिए टालते हुए कहा कि पहले सम्बंधित राज्य सरकारों के जवाब आ जाएं फिर आगे की कार्यवाही की जाएगी .. इसी केस में  गोरक्षा वाहिनी नामक एक संगठन ने भी अपना पक्ष रखने के लिए वादकालीन याचिका डाली थी जिसे न्यायालय ने स्वीकार कर लिया है ..

Share This Post