आतंकियों को कवर देने के लिए पुलिस को ही ठहरा दिया था आतंक का समर्थक. दिग्विजय सिंह पर FIR दर्ज

शायद ही इतिहास में ऐसा कभी कोई भी उदाहरण मिले जब आतंकी को सही ठहराने के लिए समाज की रक्षा कर रही पुलिस को ही दोषी ठहरा दिया जाए . पर ऐसा उदाहरण मिला है, कांग्रेस के आधार स्तम्भों में से एक माने जाने वाले नेता दिग्विजय सिंह द्वारा जिहोने कट्टर जिहादी सोच रखने वाले ISIS आतंकियों की भर्ती के लिए सीधे सीधे तेलंगाना पुलिस को ही दोषी ठहरा डाला है और तमाम आधारहीन आरोप मढ़ डाले है ..

मामला तेलंगाना का है जहाँ दिग्विजय सिंह ने तेलंगाना पुलिस पर एक आधारहीन आरोप लगाते हुए बताया की तेलंगाना पुलिस एक फर्जी वेबसाइट चला रही है जिसमे वो मुस्लिम लड़को को ISIS में भर्ती होने के लिए उकसा रही है. दिग्विजय सिंह ने इस आधारहीन आरोप के बाद वहां के मुख्यमंत्री पर भी निशाना साधा था . पुलिस और सुरक्षा बालों पर आरोप की कांग्रेस की नीति में ये बेहद बड़ा और गंभीर आरोप था .


इस क्रम में भाजपा केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा था की आतंक से लड़ी पुलिस पर ऐसे गंभीर आरोप लगाने वाले दिग्विजय माफ़ी मांगे पर दिग्विजय माफ़ी माँगना तो दूर अपने आरोप से टस से मस ना हुए . जनता में भी दिग्विजय के अपने रक्षको के खिलाफ ऐसे बयान की कड़ी आलोचना हुई थी जिसके बाद अब दिग्विजय के खिलाफ जुबली हिल थाने में FIR पंजीकृत करवाई गयी है .इस FIR पर जांच उपरान्त विधिक कार्यवाही होगी . 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW