चौंक गया है देश . सेना के हाथ मरे पत्थरबाज को इतनी सुविधाएं ??


कोई सोच भी नहीं सकता था कि वो देशद्रोही पत्थरबाज जो भारत के गौरव सेना पर पाकिस्तान के इशारे पर पत्थर मार रहे हैं उन्हें कश्मीर की सरकार इतनी सुविधाएं देती थी जितनी बलिदान हुए फ़ौजी को मिला करती हैं ..

नरेंद्र मोदी सरकार ने जब से पत्थर बाज़ों को घेरने की रणनीति बनाई है तब से उसमे सबसे ऊपर सेना के हाथ मरे पत्थरबाज़ों को मिलने वाली सरकारी सहायता को बंद करना शामिल है .. आप को जान कर हैरानी होगी कि सेना , पुलिस , CRPF या BSF के हाथों मारे गए पत्थरबाज के घर 5 लाख रुपये का मुआवजा और उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी देती थी जम्मू कश्मीर सरकार ..

अमरनाथ यात्रा से पहले पत्थरबाज़ों और आतंकवाद को पूरी तरह कुचलने की रणनीति बनाई मोदी सरकार का पहला कदम पत्थरबाज़ों को मिल रही इस कश्मीरी शासन की सहायता को बंद करवाना है .. बतौर मोदी सरकार ऐसी सहूलियतें पत्थरबाज़ों के मनोबल को बढ़ाती हैं ..

सारा देश इस बात से बेहद हैरान है क्योंकि अब तक वो यही समझ रहा था कि पत्थरबाज़ों को फंडिंग पाकिस्तान ही करता है पर कश्मीर सरकार के ऐसे कदम लगभग उन्ही के समांतर ही माने जाएंगे ..ऐसे नियम आतंक के खिलाफ लड़ रही हमारी फ़ौज के पैरों में जकड़ी कानूनों की बेड़ियों को भी दर्शाते हैं ..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...