Breaking News:

ईश्वर भी हमारी फ़ौज के साथ .. पूर्वोत्तर भारत के सबसे बड़े सरदर्द, कई जवानों के बलिदान} के गुनहगार व चीन के पालतू आतंकी खापलांग की डायबिटीज से मौत

परमात्मा भी उनका साथ देता है जो अपने कर्म को धर्म मार्ग से पूरा करता है .. और सेना के जवान तो राष्ट्रधर्म का पालन करने के लिए ना सिर्फ इस धरती पर अपितु ईश्वर तक जाने व माने जाते हैं .. महाभारत का एक श्लोक हमारे जवानों के आतंक विरोधी कार्यों को पूर्ण धर्मोचित व न्यायोचित ठहराता है जिसमे कभी भीष्म पितामह ने कहा था कि —

आताताइम मांनितम हन्यो देवा विचारयति 

अर्थात अत्याचारी का बिना संकोच के वध करो .. और हमारी फौज ने लगभग वही कार्य किया है जिसका इतिहास गवाह है ..

पूर्वोत्तर में अशांति ,अत्याचार के प्रमुख कारक , चीन के पालतू नौकर की हैसियत रखने वाले, म्यंमार से भारत मे आतंकी गतिविधि चलाने वाले व कई जवानों के बलिदान के गुनहगार आतंकी सरगना एस एस खापलांग यानि खोले खेतोवी खापलांग की डायबिटीज अर्थात सुगर से मौत हो गयी है .. सीमा पार कर के नगा विद्रोहियों को म्यंमार में आतंक की ट्रेनिग देने , चीन से पैसे ले कर पूर्वोत्तर में अशांति फैलाने , सेना पर हमला करवाने जैसे अनेक मामलों में फौज के साथ तमाम सुरक्षा एजेंसियों को उसकी जिंदा या मुर्दा रूप में तलाश थी ..

खापलांग भारत के पूर्वोत्तर राज्यो की अशांति का सबसे बड़ा कारक माना जाता था .. अभी हाल ही में मोदी सरकार की शुरुआत में ही सेना की टुकड़ी पर हमला कर के कई जवानों को मार दिया था जिसका बदला सेना ने म्यंमार में घुस कर उसके आतंकियों को मार कर लिया था और इसके बाद भारत ने एक नया शब्द जाना था जिसे ” सर्जिकल स्ट्राइक ” कहते हैं और जिस शब्द से पाकिस्तान सबसे ज्यादा डरता है ..

आतंकी खापलांग के समूह का नाम NSCN- K है जिसका पूरा नाम नेशनल सोसलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड है .. इस आतंकी दल का उद्देश्य स्वतन्त्र नागालैंड को मुक्त व पृथक देश बनवाना था जिसके कारण उस के संगठन को भारत सरकार ने अलगाववादी मानते हुए प्रतिबंधित कर दिया ..खापलांग चीन के इशारे पर अपने नमक का कर्ज कुछ यूं अदा करता था कि वो भारत सरकार से शांति वार्ता कर के हथियार डालने वाले विद्रोहियों को उकसाया करता था फिर से जंग लड़ने के लिए .. इस बीच उसने अपने आतंकी मंसूबो को धार देने के लिए एक नया आतंकी गुट भी बनाया था जिसका नाम खापलांग यूनाईटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ वेस्टर्न साउथ ईस्ट एशिया ( UNLFW) .. माना जा रहा है कि इस आतंकी की मौत के सुखद परिणाम जल्द ही आएंगे व जल्द ही पूर्वोत्तर भारत शांति और सम्पन्नता के लिए जाना जाएगा …

Share This Post