जो क़ुरैशी ICJ में है कुलभूषण की फाँसी पर आमादा, उसी वकील को कभी भारत की तरफ से खड़ा किया था कांग्रेस सरकार ने

सोचा भी नहीं जा सकता है कि भारत के जिन वकीलों ने केवल कुछ ही घण्टों में पाकिस्तान के नामी वकील को चित्त कर दिया उन वकीलों पर विश्वास ना जता कर कभी भारत सरकार ने भारत का पक्ष रखने के लिए ऐसे वकील को खड़ा किया था जो खुद पाकिस्तानी मूल का है और अक्सर पाकिस्तान का बचाव करता रहता है ..

कांग्रेस सरकार ने उसी पाकिस्तानी कुरैशी को सन 2004 में भारत के तमाम नामी वकीलों को दरकिनार करते हुए इस डाभोल बिजली परियोजना का केस सौंपा था जब कम्पनी एनरॉन ने भारत सरकार पर हर्जाने के लिए दावा ठोंका था ..

उस समय ये केस न्यायिक पंचाट में समझौते के लिए भेज दिया गया था .. कभी कांग्रेस सरकार का वही विश्वासपात्र वकील जो पाकिस्तानी मूल का है और ब्रिटेन में बसा है , आज भारत के कुलभूषण को फांसी दिलाने पर आमादा है , उसी अदालत में जहां उस पर कभी भारत सरकार ने पैसे खर्च किये थे …

Share This Post