मोदी सरकार में IAS परीक्षा का ये आंकड़ा कईयों को चौंका देगा .. मुसलमानों में ख़ुशी की लहर

नरेन्द्र मोदी की सरकार में इतिहास बना है , ख़ास कर उस सरकार को जिसे सब लोग मुस्लिम विरोधी सरकार बोलते हैं . ज्ञात हो कि भारत की सबसे प्रतिष्ठित में इस वर्ष आज़ादी के बाद सबसे ज्यादा मुसलमान नियुक्त हुए हैं . अब इस वर्ष भारत में सबसे अधिक मुसलमान IAS अधिकारी के तौर पर नियुक्त हो कर गद्दी सम्भालेंगे और भारत के प्रशासन के शीर्ष पर बैठेगे ..

यह आंकड़ा आज़ादी के बाद अब तक सबसे बड़ा आंकडा है . इस बार सेलेक्ट हुए कुल मुस्लिम अभ्यर्थियों की संख्या 50 है जो बीते वर्ष 37 की संख्या से 13 ज्यादा है . कुल आंकड़े की बात की जाय तो 4 . 54 % के प्रतिशत के साथ इस बार मुस्लिम अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए हैं जो अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा है . इस साल शीर्ष 100 में सफल मुस्लिम उम्मीदवार 10 हैं जबकि पिछले साल ये आंकडा सिर्फ १ था .  

ख़ास बात ये भी है कि आतंक प्रभावित जम्मू-कश्मीर से भी इस बार कुल 14 अभ्यर्थी  सिविल सेवा के लिए सेलेक्ट हो गए हैं जो इतिहास में सबसे बड़ी संख्या है . इस आंकड़ों से मुस्लिम समाज में हर्ष है क्योकि उनका प्रतिनिधित्व प्रशासन के सर्वोच्च पदों पर बढ़ा है . .

Share This Post