Breaking News:

बिना लड़े हथियार दे दिए ..क्या आतंक के इस युद्ध को सेना, CRPF व BSF ही लड़ रही ?

पत्थरबाज़ों का दिल्ली से बैठ कर समर्थन करना भले ही उनकी नज़र में उनके वोट बैंक को मजबूत कर रहा हो पर इसके घातक परिणाम पूरे राष्ट्र को झेलने पड़ रहे जिसका पहला असर सेना पर जा रहा है ..

कश्मीर में शोपियां जिले की नई वारदात है . यहाँ अदालत परिसर में 5 कश्मीर पुलिस के जवान तैनात थे जिनके हाथों में  SLR रायफलें थीं .. अचानक ही आतंकियों ने वहां हमला किया और पांचों की रायफलें छीन लिए .. पांचो पुलिसकर्मी कश्मीर पुलिस के थे जिनके जवाब सन्तोषजनक नहीं पाए गए ,

आतंकी उनसे सिर्फ बन्दूकें छीन कर गए और उन्हें ज़रा सी भी चोट नहीं पहुँचाई , यदि उनके स्थान पर सेना , BSF या CRPF के जवान होते तो उन्हें वो नुकसान जरूर पहुँचाते ।

कश्मीर पुलिस के पाँचों जवानों ने एक बार भी उनका कोई प्रतिरोध नहीं किया ,कहीं से कोई मुठभेड़ नहीं  . उन्होंने बिना किसी प्रतिरोध के आतंकियों को हथियार दे दिए ..

उपरोक्त सवालों से घिरे होने के बाद पांचों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है और उन पर विभागीय जांच बिठा दी गयी है .. पर सवाल कायम है कि क्या आतंक के इस युद्ध मे हमारी सेना व अर्धसैनिक बल अकेले हैं ??

Share This Post