Breaking News:

उन्होंने बताया कि वो रात में अकेले ड्यूटी करने वाले पुलिस वालों का करने वाले थे कत्ल.

ये आतंक के दुस्साहस की पराकाष्ठा ही होती जब निर्दोषों और निहत्थों को निशाना बनाने वाले दुर्दांत आतंकियों के निशाने पर होते पुलिस वाले वो भी महानगरों के जो पूरी तन्मयता से निभा रहे होते अपनी ड्यूटी . 

बिजनौर की मस्जिद से ATS ने जिन तीन आतंकियों फैज़ान , तनवीर और एहतेशाम को उठाया है उनके निशाने पर अयोध्या , मथुरा , काशी के निर्दोष श्रद्धालु ही नहीं बल्कि वो कर्तव्यपरायण पुलिस वाले भी थे जो रात में अकेले ड्यूटी करते थे . कभी आतंक के ठेकेदार बने वो तीनों आतंकी पुलिस पूछताछ में तोते की तरह सारे राज उगल रहे हैं . उन्होंने बताया की उनके ब्लास्ट की लिस्ट में बैटरी और सिलेंडर की वो दुकाने भी थी जहां बारूद फटने के बाद ज्यादा से ज्यादा जान माल का नुकसान होता . 

मुंबई में अकेले ड्यटी पर तैनात पुलिस वालों की हत्या की साज़िश रचने वाले इन दुर्दांत आतंकियों के मंसूबे जान कर पुलिस वाले भी हैरान हैं और संयोग से उन्ही पुलिस वालों के हत्थे चढ़ भी गए आखिर में . अब वही पुलिस कर्मी रिमांड पर उन आतंक के आकाओं से वो सारे राज उगलवा रहे हैं जिनका कभी उन्होंने प्लान बनाया था . गिरफ्तार आतंकियों में फैज़ान खुद को एक इस्लामिक पदवी मुफ़्ती लिखता था . 

Share This Post