पहली बार उठा है सोनिया गांधी की नागरिकता पर सवाल. मांगा जा रहा है उनसे भारतीय होना का प्रमाण

सूचना आयोग के सीआईसी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की नागरिकता का ब्योरा देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को कहा है। इस बारे में आयोग ने सभी जानकारियां आरटीआई की याचिका के तहत 15 दिन के अंदर मांगी हैं। उज्जैन के आरटीआई याचिकाकर्ता ने विदेश मंत्रालय में संपर्क करके सोनिया गांधी समेत विदेशी नागरिकों को भारत की नागरिकता को दिये जाने का ब्योरा मांगा है। इसी बीच याचिकाकर्ता ने सोनिया गांधी की भारतीय नागरिकता से जुड़े दस्तावेजों की भी मांग की है। 
इसमें सोनिया के भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन के कागज और दस्तावेज और उसके समर्थन में लगाई गई दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतिक्रिया, अधिसूचना, आदेश और इससे जुड़े नियमों का भी ब्योरा मांगा है। साथ ही वेरीफिकेशन की प्रक्रिया का भी लेखा-जोखा मांगा है। लेकिन विदेश मंत्रालय ने इस याचिका को गृह मंत्रालय के हवाले कर दिया था इसलिए विदेश मंत्रालय ने इन सवालों का कोई जवाब नहीं दिया।
लेकिन, अब मुख्य चुनाव आयुक्त आरके माथुर ने गृह मंत्रालय को आदेश दिया है कि वह इस याचिका का जवाब जल्दी दे। माथुर ने कहा कि अब तक के सबसे बड़े रिकार्ड से स्पष्ट हो गया है कि गृह मंत्रालय की और से भी कोई जवाब उपलब्ध नहीं है। इसलिए उसके याचिकाकर्ता को आदेश जारी होने के 15 दिन में ही जवाब देने के लिये कहा है। उन्होंने गृह मंत्रालय के केंद्रीय जन सूचना अधिकारी को भी अगली सुनवाई पर पेश होने के आदेश दिये है।
Share This Post