सत्य साबित हुए सावरकर… कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री का एलान- “हमें दो सत्ता, बन जाएगा श्रीराम का मंदिर”

   कांग्रेस के इस पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि बीजेपी के पास न तो अच्छी नीति है और न ही उनकी साफ़ नियति है, इसलिए                               बीजेपी अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण नहीं करवा सकती है. उन्होंने कहा है कि अगर देश की जनता ने                                                                 उनकी पार्टी को केंद्र की सत्ता सौंपी तो अयोध्या में श्रीराम मंदिर बन जाएगा.

हिंदुत्व के पुरोधा हुतात्मा वीर सावरकर जी की वो बात आज के राजनैतिक परिक्षेप्य में अक्षरशः सत्य साबित हो रही है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर हिन्दू समाज एक हो जाए तो ये तथाकथित हिन्दू विरोधी राजनेता खुद को सनातनी साबित करने के लिए कोट के ऊपर जनेऊ पहिनेंगे. आज के राजनैतिक परिद्रश्य में बिल्कुल यही हो रहा है जब हमेशा हिन्दू विरोध की राजनीति करने वाले दल आज न सिर्फ मंदिर मंदिर दौड़ रहे हैं बल्कि उनमें खुद को बड़ा हिन्दू साबित करने की होड़ भी लगी है. ये सब हुआ है 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद जब देश की हिन्दू राष्ट्रवादी जनता ने इन छद्म सेक्यूलर दलों को पूरी तरह से दरकिनार कर दिया तथा भारतीय जनता पार्टी को सत्ता सौंपी थी.

इसी बीच कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जब कांग्रेस पार्टी केंद्र की सत्ता में आ जायेगी, अयोध्या में श्रीराम का मंदिर बन जाएगा. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जिसके पास कोई नीति नहीं है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर तभी बन पायेगा जब उनकी पार्टी केंद्र में सत्ता में आयेगी.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव हरीश रावत ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘भाजपा बेईमान लोगों की पार्टी है जिन्हें न नीतियों और न मर्यादा की परवाह है, वे मर्यादा पुरुषोत्तम राम के भक्त कैसे हो सकते हैं.’’ ऋषिकेश में रावत ने पत्रकारों से कहा, ‘‘हमलोग नीतियों और संविधान में आस्था रखते हैं. अयोध्या में राम मंदिर तभी बन पायेगा जब कांग्रेस (केंद्र में) सत्ता में आयेगी. यह पक्की बात है.’’

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW