Breaking News:

इतिहास में पहली बार गांधी परिवार को मिला है इतना सख्त आदेश.. नेशनल हेराल्ड मामले में कस रहा शिंकजा

संभवतः इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब गांधी परिवार पर इतना तगड़ा प्रहार किया गया हो या इतना अख्त आदेश दिया गया हो. नेशनल हेराल्ड मामले में आख़िरकार गांधी परिवार तथा कांग्रेस पार्टी कटघरे में खड़ी हो गई है. दिल्ली हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि कांग्रेस दो हफ्ते के अंदर नेशनल हेराल्ड के दफ्तर को खाली करे. खबर के मुताबिक़, हाईकोर्ट ने पार्टी के मुखपत्र नेशनल हेराल्ड के दिल्ली स्थित दफ्तर को खाली करने के केंद्र के आदेश को चुनौती देने वाली एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) की याचिका खारिज कर दी है तथा दो सप्ताह में हेरल्ड हाउस खाली करने का आदेश दिया है. बता दें किएजेएल पर आरोप था कि पिछले 10 साल से इमारत में नेशनल हेराल्ड अखबार के प्रकाशन का काम नहीं हो रहा था.

दरअसल केंद्र और भूमि एवं विकास कार्यालय (एलडीओ) ने कहा था कि 10 साल से परिसर में कोई प्रेस इकाई काम नहीं कर रही है और इसका पट्टा समझौते का उल्लंघन करके केवल वाणिज्यिक उद्देश्यों से इस्तेमाल किया जा रहा था. एजेएल ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर आरोपों को खारिज किया था. न्यायमूर्ति सुनील गौर ने 56 साल पुराना पट्टा समाप्त करने के केंद्र के 30 अक्टूबर के आदेश को चुनौती देने वाली अपील खारिज करते हुए फैसला सुनाया कि एजेएल दो सप्ताह में आइटीओ स्थित परिसर को खाली करे. उसके बाद अनधिकृत कब्जाधारियों को बेदखल करने की प्रक्रिया शुरू होगी. वहीं, एजेएल ने कहा था कि 2016 में वेब संस्करण शुरू किया गया था. अप्रैल 2018 तक सरकार शांत रही और फिर निरीक्षण के लिए नोटिस भेजा. कई बड़े अखबार अन्य स्थानों पर प्रिंटिंग का काम करते हैं. लेकिन कोर्ट ने एजेएल की दलीलों को ख़ारिज करते हुए दो हफ्ते में दफ्तर खाली करने का आदेश दे दिया.

बता दें कि एजेएल नेशनल हेराल्ड अखबार की मालिकाना कंपनी है। कांग्रेस ने 26 फरवरी 2011 को इसकी 90 करोड़ की देनदारी अपने जिम्मे ले ली थी, यानी कंपनी को 90 करोड़ का लोन दिया. इसके बाद पांच लाख में यंग इंडियन कंपनी बनाई गई, जिसमें सोनिया व राहुल की हिस्सेदारी 38-38} व शेष कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा व ऑस्कर फर्नाडीज के पास है. बाद में एजेएल के 10-10 रुपये के नौ करोड़ शेयर यंग इंडियन को दिए गए. बदले में यंग इंडियन को कांग्रेस का लोन चुकाना था. नौ करोड़ शेयर के साथ यंग इंडियन को कंपनी के 99} शेयर हासिल हो गए. इसके बाद कांग्रेस ने 90 करोड़ का लोन माफ कर दिया, यानी यंग इंडियन को मुफ्त में एजेएल का स्वामित्व मिल गया.

दिल्‍ली स्थित नेशनल हेराल्ड हाउस को खाली कराने से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुना दिया है. जस्टिस सुनील गौर की पीठ ने अपने फैसले में दो सप्ताह का समय देते हुए नेशनल हेराल्ड हाउस को खाली करने के लिए कहा है. बता दें कि नेशनल हेराल्ड की कंपनी एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर नेशनल हाउस हाउस की लीज रद करने के फैसले को चुनौती दी थी, इस मामले में कोर्ट ने सभी पक्षों को सुनने के बाद 22 नवंबर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. शुक्रवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने एजेएल की याचिका खारिज करते हुए कहा कि दो सप्ताह में नेशनल हेराल्ड हाउस खाली करना होगा.

Share This Post