CRPF वीरों के बलिदान के बाद कश्मीर में जागा शासन.. पुलवामा में फिर से बन रहा 80 साल पुराना महादेव शिव का मन्दिर

इसको राष्ट्र के उन बलिदानी रक्षको द्वारा डाली गयी नींव ही कहा जाएगा जो उजड़ चुके चमन में फिर से बहार आती दिख रही है . भारत के जांबाजो ने अपना शीश कटा कर और अपना लहू बहा कर जिस कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखा उसी कश्मीर में हिंदूओ के हुए नरसंहार पर कभी खामोश रही सत्ता ने मानवता को शर्मशार किया था . लेकिन अब जो कुछ भी शुभ संकेत दिखाई दे रहे हैं उसका पहला श्रेय निश्चित रूप से सैनिको के शौर्य को ही जाएगा .

ज्ञात हो कि जिस पुलवामा में अभी हाल में ही कई CRPF बलिदानियों ने अपने प्राणों की आहुति दी उसी पुलवामा से आये एक शुभ समाचार ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींच लिया है . पुलवामा में निर्मित हो रहा है हिन्दुओ के लिए एक महादेव शिव का मन्दिर जो लगभग 80 वर्ष पुराना है और उस समय इसको मजहबी आक्रान्ताओं ने अपनी उन्मादी सोच और हिन्दुओं के खिलाफ नफरत को दिखाते हुए बुरी तरह से तोड़ डाला था . इसी के साथ इसकी मूर्तियाँ आदि भी क्षत विक्षत कर डाली गयी थी .

लेकिन अब उस महादेव शिव के मन्दिर में फिर से रौनक दिखने लगी है . महादेव शिव का ये मन्दिर कश्मीर के हिन्दुओ द्वारा बनवाया जा रहा है जिनको पूरी सुरक्षा आदि मिल रही है . मजहबी उन्माद से भरी जगह पर सर्वधर्म समभाव की भावना रखने वाले हिन्दुओ के इस देवस्थल की उपस्थिति स्थल को दिव्यता प्रदान करेगी . 1990 में यहां पर काफी संख्‍या में कश्मीरी हिन्दू परिवार रहा करते थे लेकिन उसके बाद आक्रंताओ के लहूलुहान कर देने वाले हमले में ये स्थल हिन्दुओ से खाली हो गया था . इस मन्दिर की  मरम्मत और दिव्यता प्रदान करने का कार्य पवित्र दिन शिवरात्रि के बाद शुरू हुआ है .

Share This Post