गौ मांस की कुछ ऐसी चाहत कि ऑनलाइन लगा दी उसकी बोली

जहां एक और मोदी सरकार ने गौहत्या पर रोक लगाने के लिए गायों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून पारित किया था। वहीं अब इससे बचने के लिए कुछ लोगों ने नया तरीका अपनाया है। गायों की बिक्री और खरीद को व्यापारियों ने ऑनलाइन शुरू कर दिया है। जहां पर भारी संख्या में गाय बिक्री के लिए तैयार है।
ऑनलाइन साइट्स जैसे ओएलएक्स पर सैकड़ों गाय बेचे जाने के लिए तैयार है और उनके मालिक अपनी गायों को 50 हज़ार से लेकर 2 लाख रुपए तक की कीमत पर बेच रहे हैं। बीते सप्ताह मोदी सरकार के आदेश के बाद एक नया कानून लाया गया जिसके अंतर्गत कोई भी आदमी अपनी गाय को गैरकानूनी तरीके से नहीं बेच सकता। 
वह सिर्फ कृषि कार्य हेतु घोषणा पत्र जारी करके अपनी गाय को बेच सकता है। जुताई और डेयरी उत्पादन के लिए गायों की खरीद-ब्रिकी की जा सकती है। मोदी सरकार ने यह अहम फैसला मवेशियों के ऊपर होने वाली क्रूरता को ध्यान में रखते हुए लिया। मोदी सरकार के इस अहम फैसले का विरोध करते हुए केरल हाईकोर्ट ने इस महत्वपूर्ण फैसले को चार हफ्ते के लिए निलंबित कर दिया है।    
ज्ञात हो कि बुधवार को गौहत्या पर अहम टिप्पणी करते हुए राजस्थान हाई कोर्ट ने कहा था कि गाय राष्ट्रीय पशु घोषित हो और केंद्र सरकार गौहत्या पर उम्र कैद की सजा का प्रावधान करें। कोर्ट ने कहा था कि जिस तरह से उत्तराखंड में गंगा को सजीव मानव का दर्जा दिया गया है उसी तरह गाय तो एक जीवित पशु है जिसके दूध से लेकर हर तरह के प्रोडक्ट्स लोगों के लिए जीवनदायी है। 
Share This Post