श्रीराम, श्री कृष्ण व् बाबा अमरनाथ पर आपराधिक टिप्पणी करने वाले संत समाज से निष्काषित अग्निवेश की बुरी तरह से पिटाई

कभी भगवान् श्री राम के खिलाफ , कभी प्रभु श्री कृष्ण के खिलाफ और कभी माहदेव शिव के खिलाफ अपने जहरीले बयानों से हिन्दू समाज को बार बार आघात देने वाले और भगवा वस्त्र में छिप कर हिन्दू विरोध का पर्याय बन चुके अग्निवेश को झारखंड के पाकुड़ क्षेत्र में बुरी तरह से पीटा गया है .. फिलहाल पिटाई का असल कारण अभी तक सामने नहीं आया है लेकिन बतया जा रहा है की उसके द्वारा बार बार हिन्दू समाज को अपमानित करना ही जनता के आक्रोश का कारण बना है . संत समाज से निष्काषित होने के बाद भी अपने नाम में साजिशन स्वामी लगाने वाले अग्निवेश की पिटाई के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है . 

विदित हो की वामपंथी विचारधारा के करीब मने जाने वाले पूर्व राज्यसभा के सदस्य अग्निवेश की मंगलवार को झारखंड के पाकुड़ के मुस्कान पैलेस होटल के सामने कुछ युवको ने बुरी तरह से पिटाई कर डाली है . अग्निवेश के अनुसार ये युवक हिन्दू संगठन और भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं जिस पर पुलिस जांच कर रही है .  अग्निवेश की पिटाई के साथ साथ वहां पर अग्निवेश के खिलाफ नारे भी गूँज रहे थे जिसमे पाकिस्तान व ईसाई मिशनरी के दलाल स्वामी गो बैक का नारा प्रमुख था .. अपनी हरकतों के चलते किसी बड़े कट्टरपंथी से भी बड़े हिन्दू विरोधी चेहरे के रूप में कुख्यात हो चुके अंगिवेश लिट्टीपाड़ा में पहाड़िया हिल एसेंबली के दामिन दिवस समारोह में भाग लेने आए थे।

इस मामले के तूल पकड़ते ही झारखंड के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी ने इस घटना की जांच कर के उचित कार्यवाही के के आदेश जारी कर दिए हैं जबकि अग्निवेश इस से भी ऊपर की न जाने कौन सी जांच मांग रहे हैं . घटना का समय था दोपहर करीब एक बजे.. इस समय अग्निवेश अपने कुछ साथियो के साथ दामिन दिवस समारोह में शामिल होने के लिए जब होटल से बाहर निकले तो पहले से काला झंडा दिखाने को तैयार करीब दो दर्जन भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता अचानक उत्तेजित हो गए। उनकी ओर काले झंडे लहराते हुए बढ़े। अचानक कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला बोल दिया। उनको खींचकर जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद लाठी, डंडा, जूता चप्पल जो मिला उसका प्रयोग किया।

इन लोगों की भरदम पिटाई से स्वामी अग्निवेश के समर्थक भी डर कर भाग गए । बाद में कुछ समर्थकों ने किसी प्रकार अग्निवेश को वहां निकाला। उन्हें होटल के अंदर ले गए, जहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक डॉ. समरूल ने उनका इलाज किया।  पिटाई करने वाले कार्यकर्ताओं का साफ़ कहना था की अग्निवेश यहां के भोले-भाले आदिवासियों को भड़काने आए हैं। ये पाकिस्तान व ईसाई मिशनरियों के इशारे पर काम कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने जो करेगा गीता का अपमान, नहीं सहेगा हिंदुस्तान, भारत माता की जय के नारे लगाए। इतना ही नहीं इस हिन्दू विरोधी चेहरे को पीट कर के सड़क को जाम भी कर दिया गया था जिस से वाहनों की लम्बी कतारे लग गयी . 

Share This Post

Leave a Reply