राजस्थान के अफराजुल के लिए उमड़ पड़ा धर्मनिरपेक्ष समूह. ममता बनर्जी देंगी 3 लाख रूपये और सरकारी नौकरी


लव जिहाद के आरोप में मारे गए अफ़राज़ुल के लिए तमाम सेकुलर ताकतें एक होना शुरू हो गयी हैं . इस पूरे मामले की तह में गिना गए अचानक ही कई लोगों की बयानबाज़ी सामने आने के बाद इस मामले में कईयों ने हिन्दू संगठनों और कईयों ने हिन्दुओं की विचारधारा को दोषी ठहराने का प्रयास किया.. इसमें सबसे आगे निकली हैं मुस्लिमो की भारत में बड़ी पैरोकार मानी जाने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी . 

आज तक बंगाल में धर्मांधोंद्वारा कर्इ हिन्दुआें की हत्या हुर्इ है। किंतु तुष्टिकरण में डुबी ममता बॅनर्जी की एेसी ‘ममता’ पीडित हिन्दुआें के लिए कभी दिखार्इ नहीं दी ! पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि, उनकी सरकार अफराजुल के परिवार को तीन लाख रुपए और एक सदस्य को नौकरी देगी। अफराजुल राज्य का रहने वाला एक श्रमिक था। राजस्थान के राजसमंद जिले में शंभु लाल रेगर नामक व्यक्ति ने लव जिहाद का बदला लेने के लिए अफराजुल पर कुल्हाड़ी से वार किया तथा उसे जिंदा जला दिया था। 

ममता ने एक बयान में कहा कि, शोकसंप्त परिवार को हमारी सरकार ने शुरुआती सहायता के तौर पर तीन लाख रुपए के अलावा पीड़ित परिवार के किसी योग्य व्यक्ति को नौकरी देने का निर्णय किया है। इस बड़ी घोषणा के बाद अभी और भी तमाम धर्मनिरपेक्ष लोगों के सामने आने की संभावना है जो अफ़राजुल की बढ़ चढ़ कर मदद करेंगे लेकिन यहाँ कईयों के बयान से ये भी प्रतीत होता है की कहीं न कहीं इसमें राजनीति जरूर की जा रही है . 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share