Breaking News:

कासगंज में तलाशी के दौरान मिल रहे पिस्टल और बम .. आखिर कौन था अगला निशाना चन्दन के बाद ?

कासगंज न जाने किस राह पर था , वो बम और बारूद किसके लिए था आखिर ? कौन था उनके अगले निशाने पर ? चन्दन की हत्या के बाद ही आखिर क्यों आई सुध ? इसको पहले क्यों नहीं लिया गया संज्ञान में ? इतने के बाद भी आखिर अखिलेश यादव किस के लिए न्याय मांग रहे थे ? इन तमाम सवालों के जवाब धीरे धीरे कासगंज को देने होंगे जो एक आहुति के बाद नींद से जागा है .

विदित हो कि २६ जनवरी अर्थात गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुए शुक्रवार को कासंगज में मजहबी कट्टरपंथियों के हमले और चन्दन गुप्ता की हत्या के बाद उपजे सांप्रदायिक बवाल के बाद लगातार तीसरे दिन भी हिंसा और आगजनी जारी है। रविवार की सुबह कासगंज के नदरई गेट इलाके में उपद्रवियों ने दुकानों में आग लगा दी। पुलिस की आरोपियों की तलाश में घर-घर दबिश जारी है। पुलिस ने एक आरोपी के घर से पिस्टल और बम बरामद किया है। कासगंज में बरामद इस जखीरे के बाद स्थानीय स्तर पर सन्नाटा है और सवाल हो रहा कि आखिर किसके लिए था ये मौत का सामान ?

स्थिति सामान्य करने के प्रयास के साथ पुलिस उपद्रवियों को खदेड़ने में जुटी है। हालत ये रही कि ड्रोन कैमरों से निगरानी की जा रही है। शुक्रवार से शुरू हुई हिंसा में कासगंज लगातार जलता रहा, भारी तनाव बना रहा और मज़हबी कट्टरपंथी शनिवार की रात भर उपद्रवी आगजनी की घटनाओं को अंजाम देते रहे। उपद्रवियों ने घर, कार, बाइक एंबुलेंस और मेडिकल स्टोर समेत तमाम दुकानों को आग के हवाले कर दिया। बवाल बढ़ने पर जिले भर में रविवार तक के लिए इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। 

Share This Post