रोहिंग्या, पाकिस्तानी, बांग्लादेशियों के बाद अब भारत संक्रमित हो रहा अफगानियों से… दिल्ली एयरपोर्ट पर अफगानियों की दस्तक

पहले हिंदुस्तान पाकिस्तानी घुसपैठियों के जहर से संक्रमित होता रहा, इसके बाद शुरू हुआ बांग्लादेशी घुसपैठियों का दौर तथा इससे देश की न सिर्फ आन्तरिक बल्कि बाहरी सुरक्षा को भी खतरा पैदा हुआ. इसके बाद म्यांमार में बौद्धों तथा हिन्दुओं के हत्यारे रोहिंग्या आक्रान्ताओं की हिंदुस्तान में घुसपैठ शुरू हुई जिसको लेकर देश की सुरक्षा एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया कि रोहिंग्या देश की एकता तथा अखंडता के लिए बड़ा खतरा हैं.  पाकिस्तान, बंगलादेश तथा रोहिंग्या की घुसपैठ से जूझ रहे हिंदुस्तान को अब चुनौती मिली है अफगानी उन्मादियों से. आपको बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में अफगानी नागरिक की दस्तक सुनाई दी है.

आपको बता दें कि दुनियाभर में बेहद सुरक्षित माने जाने वाले दिल्ली के IGI एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 से एक अफगान नागरिक दूसरे के बोर्डिंग पास पर सिडनी चला गया. मामले की जानकारी IGI एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 से संदिग्ध हालत में पकड़े गए एक अन्य अफगानी नागरिक से पूछताछ में हुई. पूरा मामला शनिवार रात की है. बताया जा रहा है कि दोनों ही अफगानी यात्री काबुल से दो अलग-अलग एयरलाइंस की फ्लाइट से दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर उतरे और दोनों ट्रांजिट लाउंज में मिले. इसके बाद नकली यात्री एयर इंडिया की फ्लाइट पकड़कर सिडनी चला गया. दूसरा यात्री उसका बोर्डिंग पास लेकर लाउंज में बैठा रहा. सुरक्षा एजेंसी के एक अधिकारी ने जब उससे पूछताछ की तो वह इधर-उधर की बातें करने लगा. मामला संदिग्ध देख अफसर ने अन्य सुरक्षा एजेंसियों को भी जानकारी दी.

पकड़े गए शख्स के पासपोर्ट व अन्य दस्तावेजों की जांच की गई तो पता चला कि उसके कागजों पर नकली यात्री एयर इंडिया की फ्लाइट में बैठकर सिडनी को उड़ चुका है. फ्लाइट को वापस बुलाना मुनासिब नहीं था तो फौरन ऑस्ट्रेलिया की सुरक्षा एजेंसियों को नकली यात्री की जानकारी दी गई. सिडनी से उस नकली यात्री को दिल्ली डिपोर्ट किया जा रहा है. उससे पूछताछ पर ही मामले की असलियत का खुलासा होगा लेकिन सवाल वही कि आखिर कब तक देश में इस तरह की घुसपैठ होती रहेगी तथा हिंदुस्तान मजहबी जहर से संक्रमित होता रहेगा.

Share This Post

Leave a Reply