Breaking News:

हलाला को बलात्कार बताया तो चीख पड़े कई मजहबी .. बताने वाला कोई हिन्दू नहीं

तीन तलाक के बाद एक और इस्लामिक कुप्रथा जिसमें मुस्लिम महिलाओं को दी जाती है अंतहीन प्रताड़ना तथा तार-२ की जाती है उनकी इज्जत.. हम बात कर रहे हैं निकाह हलाला की. एकतरफ जहाँ तीन तलाक को सुप्रीम कोर्ट बैन कर चुका है तथा लोकसभा से तीन तलाक को अपराध घोषित करने वाला बिल पास भी हो चुका है, वहीं अब दुसरी तरफ निकाह-हलाला पर भी हथोड़ा चलाने की तैयारी चल रही है.

देशभर में निकाह हलाला पर जारी बहस के बीच डॉक्यूमेंट्री मेकर अंबर जैदी ने निकाह हलाला पर एक बड़ा बयान दिया है तथा कहा है निकाह हलाला कोई मामूली अपराध नहीं है बल्कि ये एक संगठित बलात्कार है जिसे सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया जाता है. जैसा कि सभी जानते हैं कि पीएम मोदी को ज्यादातर मुस्लिम समाज वर्ग द्वारा खासा पसंद नहीं किया जाता है तो दूसरी तरफ, तीन तलाक और निकाह हलाला के पीड़ितों को उनसे काफी उम्मीदें भी हैं. अधिकांश निकाह हलाला पीड़ितों का यही कहना है और वो डॉक्यूमेंट्री मेकर अंबर जैदी से अपील कर रही हैं कि उनकी बात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाया जाए. अंबर जैदी निकाह हलाला पीड़ितों पर पिछले 2-3 सालों से एक डॉक्यूमेंट्री बना रही हैं.

अंबर जैदी ने कहा कि अधिकांश मामलों में केस स्टडी पूरी हो गई है और जल्दी ही इसे यूट्यूब, फिल्म फेस्टिवल और अन्य साधनों द्वारा मुस्लिम महिलाओं तक पहुंचाने का काम किया जाएगा। देश के अगल-अलग राज्यों राजस्थान, एमपी, यूपी, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के करीब 200 निकाह हलाला पीड़िताओं से मैंने बात भी की है। अंबर जैदी का कहना है, ‘निकाह हलाला एक गैर-इस्लामिक प्रैक्टिस ही नहीं, बल्कि ये संगठित बलात्कार है तथा महिलाओं पर घोर अत्याचार है, ये एक महापाप है तथा ये तुरंत ही रोका जाना चाहिए चाहे इसके लिए सरकार के दखल की जरूरत ही पड़े.

Share This Post