Breaking News:

बरेली में अब तक की सबसे बड़ी माब लिंचिंग. मज़हबी उन्मादियों की भीड़ घुसी थाने में, हिन्दू युवको को खुद के हवाले करने की मांग.. लगे मजहबी नारे

जिस मोब लिंचिंग का अब तक संसद से सडक तक सबसे ज्यादा शोर मचाया गया उस मोब लिंचिंग का सबसे वीभत्स रूप बरेली में देखने को मिला है . यहाँ मुस्लिम बहुल इलाके में पूरी भीड़ घुस गयी थाने में और आक्रामक हिंसक अंदाज़ में हिरासत में लिए गये युवको को अपने हाथ में सौंपने की मांग करते हुए पुलिस वालों पर ही हमला बोल दिया. कई थानों की फ़ोर्स बुला कर इस मामले को टाला जा सका वरना हिरासत से खींच कर युवको को मार दिया गया होता . इस मामले में सबसे पहला नाम आया है सुबहान खान का जिसके अनुसार व्हाट्सएप की टिपण्णी उसके मजहबी भावनाओं को आहत कर रही है . फिलहाल अभी तक ये नहीं बताया जा रहा है कि गाय के प्रति श्रद्धा पर ज्ञान और मजहबी उलेमाओ के लिए दो शब्द  

विदित हो कि गाय को आस्था का मुद्दा न बनाने की दुहाई देने वाले वर्ग विशेष ने एक बार फिर से वो हिंसक रूप दिखाया है जो कभी डेनमार्क के कार्टून को ले कर दिखाया गया था . मजहबी नारे लगाती भीड़ ने शहर का माहौल केवल इसलिए बिगाड़ दिया क्योकि उसको व्हाट्सएप पर एक संदेश अपने एक मजहबी उलेमा की शान में गुस्ताखी लगी है .. ऐसी मोब लिंचिंग शायद ही किसी ने देखी रही हो जब उन्माद भरे नारे लगाते हुए एक भीड़ ने पूरे शहर में बवाल कर दिया हो . इस बवाल के बाद महिलायें घर में दुबक गयी और बच्चे चीख चीख कर रोने लगे लेकिन उन्माद ज्यों का त्यों बना रहा और भीड़ सीधे पुलिस से भिड गयी . फिलहाल अब तक के सबसे हिंसक मोब लिंचिंग पर तथाकथित मानवाधिकारवादी और बुद्धिजीवी के साथ बॉलीवुड के तथाकथित स्टार खामोश हैं . 

व्हाट्सएप पर वायरल होते ही पुलिस करीब पांच बजे आरोपी मोहित सक्सेना उर्फ मोनू के गुलाबनगर स्थित घर दबिश देने पहुंची। लेकिन वह नहीं मिला। वहां मौजूद उसके चाचा संजीव सक्सेना और उसके दोस्त राहुल सक्सेना को हिरासत में ले लिया। उन्हें जीप में जैसे ही पुलिस थाने लेकर पहुंची। थाने की बाउंड्री के बाहर बड़ी संख्या में मौजूद लोग जान से मार देंगे और मारो.. मारो की आवाज करते हुए पुलिस जीप पर टूट पड़े। दोनों को आरोपी समझते हुए भीड़ उन्हें खींचकर ले जाने की कोशिश करने लगी। कोतवाली इंस्पेक्टर गीतेश कपिल और किला इंस्पेक्टर कमलेश कांत वर्मा दोनों को बचाते हुए थाने के अंदर लेकर आए और हवालात में डाल दिया। गुस्साए लोगों ने पुलिस कर्मियों के साथ धक्कामुक्की करते हुए हवालात के गेट को खोलकर दोनों को अपने कब्जे में लेने के कोशिश की। इस पर पुलिस को लाठी फटकार कर उन्हें खदेड़ना पड़ा। एसपी सिटी अभिनंदन सहित तीनों सर्किल ऑफिसर पुलिस बल के साथ मौके पर आ गए। तनाव को देखते हुए व्यापारियों ने अपनी दुकानें भी बंद कर दी। एहतियातन पुलिस बल की तैनाती की गई है।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW