वो नाम और धर्म बदलकर हिन्दू लडकियों को फंसाता था जाल में.. फिर इस्लामिक आतंकी बगदादी तथा जाकिर नाइक के वीडियो दिखाकर करता था बलात्कार

ये एक ऐसा मामला है जिसे सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो जायेंगे, आपकी रूह कांप उठेगी. ये मामला उन लोगों की जुबान पर भी ताला लगा देगा तो लव जिहाद का ये कहते हुए बचाव करते हैं कि लव जिहाद कुछ नहीं होता है. नाम तो उसका दानिश था लेकिन वह नाम तथा धर्म बदलकर हिन्दू लड़कियों को अपने जाल में फंसाता था. वह हिन्दू नाम रखकर, हाथ पर कलावा बांधकर, माथे पर तिलक लगाकर हिन्दू लडकियों से पहले दोस्ती करता था, फिर उनको लव जिहाद में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण करता. इस तरह वह एक नहीं बल्कि लगभग 10 लडकियों की जिन्दगी तबाह कर चुका था.

जय श्री राम न बोलने पर कार से टक्कर का आरोप लगाया था मौलाना ने.. पुलिस की जांच में बेनकाब हुए वो सभी चेहरे जो बदनाम कर रहे थे तमाम हिंदुओं को

मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है जहाँ के जाजमऊ निवासी मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी के मार्केटिंग मैनेजर दानिश अली ने इंदौर में तैनाती के दौरान खुद को हिंदू बताकर दो युवतियों की जिंदगी बर्बाद कर दी. दानिश ने एक युवती से शादी की और दूसरी लड़की से सगाई कर शारीरिक शोषण किया. इसके अलावा कई और लडकियों को भी जिहादी दानिश नाम तथा धर्म बदलकर धोखा दे चुका था. दोनों पीड़ित युवतियां के द्वारा कानपुर एसएसपी को दी गयी तहरीर पर पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है.

इंदिरा आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए महिला को साथ ले गया था मोहम्मद इरफ़ान.. फिर कर डाला बलात्कार

दानिश के लव जिहाद का शिकार हुई इंदौर की  युवती ने एसपी पूर्वी राजकुमार को बताया कि 2009 में उसकी मुलाकात जाजमऊ अहमद नगर निवासी एमआर दानिश अली से हुई थी. तब दानिश ने अपना नाम जॉन सलूजा और धर्म हिन्दू बताया था. इसके बाद दोस्ती करके उसे कानपुर लाया. यहां एक मंदिर में शादी रचाई. बाद में पता चला कि दानिश हिन्दू नहीं, मुस्लिम था. उसने दो बार गर्भपात कराया. पुलिस को दी गयी तहरीर के मुताबिक़ दानिश ने पहली पत्नी को तलाक देने के बाद इंदौर के एक होटल के मैनेजर की बेटी को अपने प्यार के जाल में फंसाया.

तबरेज अंसारी की मौत को मॉब लिंचिंग बता कर हिन्दुओ को बदनाम और चुनौती देने वालों की पोल खोली झारखंड पुलिस ने. क्या वो होंगे शर्मिंदा ?

पीड़ित युवती के मुताबिक़ दानिश उसे अपना नाम राज उपाध्याय व पता मुंबई बताकर मिला था. वर्ष 2015 में उसने शादी का प्रस्ताव रखा तो घरवाले तैयार हो गए. 2016 में उसने सगाई कर ली और लगातार शारीरिक संबंध बनाता रहा, लेकिन जब दीपावली पर किसी काम से उसका बैग देख रही थी तो उसमें दानिश नाम की आइडी मिली. तब असलियत का पता लगा. वह कहता था कि वह मूलरूप से मेरठ का है. पिता हिंदू व मां मुस्लिम है. फरवरी 2019 में उसने शादीशुदा व मुस्लिम होने की बात कहकर शादी से इन्कार कर दिया. तब इंदौर में दुष्कर्म का मुकदमा लिखाया.

सेक्यूलर ममता बनर्जी शासित प. बंगाल से गिरफ्तार हुए 4 बांग्लादेशी आतंकी.. सामने आ रहे शरण देने के दुष्प्रभाव

पुलिस को दी गई शिकायत में युवतियों ने आगे बताया है कि दानिश उन्हें जाकिर नाइक के वीडियो दिखाता था. इसके साथ ही बगदादी के वीडियो दिखाकर इनके मन में भय पैदा करता था. मुस्लिम युवक दानिश पर यह भी आरोप है कि वह इस्लाम धर्म अपनाने के लिए दबाव डालता था. दानिश की जिहादी सोच यहीं ख़त्म नहीं होती है बल्कि पीड़ित युवतियों के मुताबिक आरोपित ने इंदौर में ही चार और युवतियों को प्रेमजाल में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण किया. वे युवतियां भी इंदौर में मुकदमा लिखाने वाली हैं.

मेरठ में जारी है मजहबी उन्मादियों का आतंक.. हिन्दुओं के पलायन की खबरों के बीच मंदिर में कीर्तन कर रही महिलाओं पर उन्मादियों का हमला, बरसाईं गोलियां

पुलिस को बताया गया है कि दानिश उन युवतियों से समीर दुबे, बॉबी शर्मा व अनूप दीक्षित नाम बताकर मिला था. वहीं इस पूरे मामले पर एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि दानिश नामक युवक के खिलाफ युवती ने शादी करने और दूसरी ने सगाई करने का आरोप लगाया है. पहले से ही मुकदमे दर्ज हैं, जिनकी विवेचना चल रही है. परिजनों पर धमकी देने के आरोप में रिपोर्ट लिखाई गई है, जांच कर कार्रवाई की जाएगी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW