कोई मिर्ची के बहाने मांग रहा अतिरिक्त सुरक्षा तो स्व. अटल जी के परिजनों ने सरकारी सुविधाओं पर लिया वो फैसला जिससे और बढ़ गया अटल जी का सम्मान

हिंदुस्तान के कद्दावर नेता रहे पूर्व प्रधानमन्त्री भारतरत्न स्व. अटल बिहारी बाजपेयी जी के परिवार ने के ऐसा फैसला किया है जिसने श्रद्धेय अटल जी का सम्मान तो बढाया ही है साथ ही पूरा देश उनके परिवार को भी सैल्यूट कर रहा है. अटल बिहारी वाजपेयी के परिवार ने सरकार की और से मिलने वाली सरकारी सुविधाओं को लेने से इंकार किया है। परिवार का कहना है कि वह अपना खर्च उठाने में सक्षम हैं। इसलिए उसे सरकारी सुविधाओं की जरूरत नहीं है.

अटल जी के परिवार का ये फैसला इसलिए और भी सराहनीय है क्योंकि जहाँ कुछ राजनेताओं को बँगला खाली कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट को आदेश देना पड़ता है तो वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी मिर्ची के बहाने अतिरिक्त सुरक्षा की मांग करते हैं.  अटल बिहारी वाजपेयी के परिजनों ने प्रधानमंत्री कार्यालय को एक पत्र लिखकर इस बात की जानकारी दी है. उनका कहना है कि उन्हें इन सुविधाओं की आवश्यकता नहीं है, इसलिए वे व्यर्थ में सरकार पर भार डालना नहीं चाहते. बता दें कि वाजपेयी के परिवार में उनकी दत्तक पुत्री नमिता, दामाद रंजन भट्टाचार्य और पौत्री निहारिका व अन्य सदस्य शामिल हैं. यह परिवार वाजपेयी के साथ ही दिल्ली के लुटियंस जोन में कृष्ण मेनन मार्ग पर सरकारी आवास में ही रहता था. हालांकि अब परिवार ने इस घर को छोड़ने का फैसला लिया है. बता दें कि 16 अगस्त को पूर्व प्रधानमन्त्री अटल जी देवलोकवासी हो गए थे.

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्रियों के परिवार को एसपीजी सुरक्षा सहित कई प्रकार की सरकारी सुविधाएं मिलती हैं। अभी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवगौड़ा को ये सुविधाएं मिली हुई हैं। इसी तरह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के परिवार के रूप में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा प्रियंका गांधी को भी पूर्व पीएम के परिवारों को मिलने वाली सुविधाएं खासकर एसपीजी सुरक्षा मिली हुई है. पूर्व प्रधानमंत्रियों की फैमिली को मुफ्त आवास की सुविधा, मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं, सरकारी स्टाफ, घरेलू विमान टिकटें, ट्रेन में फ्री यात्रा और एसपीजी सुरक्षा समेत अन्य सुविधाएं मिलती हैं लेकिन अटल जी के परिवार का कहना है कि उन्हें ये सुविधाएं नहीं चाहिए क्योंकि वह अपना खर्च उठाने में  सक्षम हैं.

Share This Post

Leave a Reply