लोकसभा में सवर्ण हिन्दुओं के लिए उठी बड़ी मांग… वो मांग जिसके लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहा है सवर्ण समाज

देश का सवर्ण हिन्दू समाज लंबे समय से अपने हक़ के लिए संघर्ष करता आ रहा है, अपने लिए न्याय माँगता आ रहा है. चाहे वह आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग हो या फिर SCST पर लाया गया अध्यादेश को. लेकिन ये भी एक सत्य है ज्यादातर राजनैतिक पार्टियों ने सवर्ण समाज की इन मांगों पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया है. लेकिन सवर्ण हिन्दुओं का संघर्ष अब रंग लाता हुआ दिखाई दे रहा है. आपको बता दें कि लोकसभा में गुरुवार को सवर्ण जातियों की समस्याओं की सुनवाई और उसके समाधान के लिए सवर्ण आयोग के गठन की मांग उठी है.

सदन में शून्यकाल की कार्यवाही के दौरान भारतीय जनता पार्टी के सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा ने सवर्ण आयोग के गठन की मांग उठाते हुए कहा कि अगड़ी जातियों की भी कई समस्याएं हैं जिनको लेकर वह परेशान रहते हैं. ऐसे में अन्य पिछड़ी जाति (ओबीसी) आयोग, अनसूचित जाति जनजाति (एससी-एसटी) आयोग और दूसरी जातियों के लिए बने आयोग और संस्थाओं की तर्ज पर सवर्णों के लिए भी एक आयोग का गठन किया जाना चाहिए. उत्तर प्रदेश के बांदा लोकसभा सीट से सांसद मिश्रा ने कहा कि अगर अन्य जातियों के लिए गठित आयोगों की तरह ही सवर्ण आयोग का गठन हो जाएगा तो अगड़ी जातियों को अपनी समस्याओं का समाधान पाने में मदद मिलेगी.

भाजपा सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा ने कहा कि वह कोई जातिवादी बात नहीं कर रहे हैं लेकिन सदन को ये समझना होगा कि सवर्ण समाज भी कई तरह की परेशानियों से जूझ रहा है, जिस तरह से अनुसूचित जाति-जनजाति की समस्याओं पर विचार के लिए एससी-एसटी आयोग है, पिछड़ा वर्ग आयोग है, उसी तरह से सवर्ण आयोग का भी गठन किया जाना चाहिए ताकि सवर्ण समाज की वास्तविक परेशानियों का आंकलन किया जा सके, उनको दूर किया जा सके.

Share This Post