प्रभु श्रीराम की आरती उतारने वाली मुस्लिम महिलाओं ने सोचा भी नहीं था ये, जो अब उनके साथ शुरू हुआ.. कहाँ है सेक्यूलरिज्म?


प्रभु श्रीराम के जन्मोत्सव “श्रीरामनवमी” के पावन पर्व पर वाराणसी में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने सांप्रदायिक सद्भाव, आपसी प्यार-मोहब्बत का शानदार नमूना पेश करते हुए प्रभु श्रीराम की आरती तथा हिन्दू-मुस्लिम एकता पर बल दिया. मुस्लिम महिलाओं ने श्रीराम की आरती इसलिए की थी ताकि इससे हिन्दू तथा मुस्लिमों के बीच आपसी अमन कायम होगा, सद्भाव बढ़ेगा, लेकिन इसके बाद उनके साथ वो हुआ जो उन्होंने सोचा भी नहीं था.

पहली बार वायुसेना प्रमुख ने बताई फौज की वो पीड़ा जिसे सड़क से संसद तक वोट के लिए हथियार बना चुके हैं कुछ लोग

खबर के मुताबिक़, वाराणसी में मुस्लिम महिलाओं द्वारा श्रीराम की आरती किये जाने पर देवबंदी इस्लामिक उलेमा भड़क उठे हैं तथा उलमा ने महिलाओं को इस्लाम से खारिज होना करार दिया है. देवबंदी उलमा ने कहा कि यदि कोई मुसलमान अल्लाह के सिवा किसी अन्य की इबादत करता है तो उसे फौरन अल्लाह से तौबा करनी चाहिए. फतवा ऑनलाइन के प्रभारी मुफ्ती अरशद फारुकी ने कहा कि इस्लाम अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत करने की इजाजत नहीं देता. अगर कोई मुसलमान ऐसा करता है तो उसे अल्लाह से तौबा कर लेनी चाहिए.

एक ऐसी पार्टी जिसके प्रचार में बुलाये गये हैं बांग्लादेशी प्रचारक.. वो चाह रही है भारत की सत्ता

ऑल इंडिया जमीयत दावातुल मुसलीमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन कारी इस्हाक गोरा ने कहा कि वाराणसी में कुछ बुर्कानशी महिलाओं ने श्रीराम की पूजा अर्चना कर, उनकी आरती उतारी. अगर वो महिलाएं मुस्लिम हैं तो उन्होंने गैर इस्लामिक कार्य को अपनाया है. उन्होंने कहा कि शरीयत में साफ कहा गया है कि कोई भी शख्स पुरुष या महिला जिस मजहब की चीजों को इख्तियार करेगा वो खुद-ब-खुद उसी धर्म में कंवर्ट (परिवर्तित) हो जाएगा क्योंकि इस्लाम अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत करने की इजाजत नहीं देता.

एक ऐसा पिता, जिसके बेटे ने एलान किया है उसके क़त्ल का… – “मोदी को वोट देने के कारण”

ऑल इंडिया जमीयत दावातुल मुसलीमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन कारी इस्हाक ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं ने अगर गैर इस्लामिक चीजों को अपनाया है तो वह इस्लाम से खारिज हो जाती हैं. लेकिन अगर उन्होंने दोबारा इस्लाम में दाखिल होना है तो वह अल्लाह से तौबा करके दोबारा कलमा पढ़कर इस्लाम में दाखिल हो सकती हैं.

मोदी को वोट देने से पहले ही 75 वर्ष के बुजुर्ग को मार डाला.. घटना में कांग्रेस का भी आ रहा नाम

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share