आरएसएस ने पेश किया 2016-17 में किये अपने कार्यों का ब्यौरा, नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक सराहना की

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ ने रविवार को 2016-17 में किये अपने कार्यों का ब्यौरा पेश किया। आरएसएस ने अपने इस ब्यौरे में आरएसएस की शाखाओं, शिक्षा क्षेत्र में किये गये कार्यों, सभी राज्यों में की गई मदद के बारे में जानकारी दी। इस ब्यौरे में आरएसएस ने केंद्र सरकार के कुछ अहम फैसलों की तारीफ भी की। आरएसएस ने नोटबंदी और पाकिस्तान पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक की सराहना की।

आरएसएस ने इन फैसलों को देशभक्ति से जुड़ा कदम बताया। इस ब्यौरा में लिखा गया है कि पाकिस्तान की भारत विरोधी गतिविधियों को रोकने के लिए भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की। इसमें कहा गया है कि भारत सरकार ने इस फैसले को लेकर अपनी सामरिक कुशलता का परिचय दिया। आरएसएस के मुताबिक इस फैसले के कारण पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग होना पड़ा और पाक में होने वाला सार्क सम्मेलन भी टल गया। आरएसएस ने नोटबंदी की भी तारीफ की।

उन्होंने कहा कि ये एक साहसिक निर्णय था, इसके कारण लोगों को काफी कठिनाइयां झेलनी पड़ी। लेकिन फिर भी लोगों ने इस फैसले का साथ दिया। आरएसएस ने इस फैसले को काला धन, जाली नोट और आतंकवादियों की धनशक्ति के खिलाफ उठाया गया कदम बताया। इसी के साथ आरएसएस ने इसरो के वैज्ञानिकों की भी तारीफ की। 15 फरवरी 2017 को इसरो के एक साथ 104 सैटलाइट छोड़ने को आरएसएस ने ऐतिहासिक घटना बताया।

Share This Post