दिल्ली महिला आयोग ने विज्ञापन में आदर्श नागरिक के रूप में निर्भया के दोषी की तस्वीर लगाने के मामले में चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया

निर्भया की माँ श्रीमती आशा देवी आज दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाती मालीवाल से मिलीं. उन्होंने आयोग में शिकायत दर्ज करवाई थी कि सोशल मीडिया पर एक फोटो चल रही है जिसमे निर्भया के कातिल की फोटो पंजाब राज्य चुनाव आयोग के एक होर्डिंग में लगी हुई थी. उसको आयोग के ब्रांड अम्बेसडर के रूप में दिखाया गया था. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ने इस मामले में तुरंत संज्ञान लिया और चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया.
उन्होंने इस घटना को शर्मनाक बताया और कहा कि यह एक तरह से एक बलात्कार के दोषी का महिमा मंडन है. महिला आयोग ने कहा कि इस घटना से न केवल पीडिता के माता पिता, बल्कि अन्य बलात्कार पीड़िताओं को भी दुःख हुआ है. आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा कि इस मामले में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए. महिला आयोग ने चुनाव आयोग से पूछा है कि इस मामले में जिम्मेदार अधिकारी कौन हैं और उनके खिलाफ क्या कार्यवाही की गयी है. साथ ही पूछा है कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए क्या कदम उठाये गए हैं. महिला आयोग ने इस मामले में 29 जुलाई तक जवाब देने को कहा है.
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाती मालीवाल ने कहा, “ मुझे इस घटना पर बहुत दुःख हुआ है. उच्चतम न्यायालय द्वारा निर्धारित की गयी मौत की सज़ा देने की जगह सरकारी संस्थान दोषी का महिमा मंडन कर रहे हैं. जिस दोषी की फोटो पंजाब राज्य चुनाव आयोग के होर्डिन में लगी थी, उसका 2012 में निर्भया के बलात्कार और हत्या में बहुत बड़ा हाथ था. यहाँ तक कि उसको कई बार यह भी कहते सुना गया कि महिलाएं ही बलात्कार को आमंत्रित करती हैं. निर्भया की माँ आज मुझसे मिलीं, उनके दर्द को बयान नहीं किया जा सकता. व्यवस्था कैसे इतनी संवेदनहीन हो सकती है? चुनाव आयोग को इस मामले में जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए.”
सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW