कांग्रेस में सास से दमाद तक, सब जुडे़ हुए है घोटालों से

नई दिल्ली : बीकानेर जमीन घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने फरीदाबाद में कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगियों के घर पर छापेमारी की। इडी ने रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगि महेश नागर और अशोक कुमार के यहां छापेमारी की है। जानकारी के मुताबिक, इस घोटाले में कांग्रेस के एक विधायक भी जुड़े हैं व वाड्रा के सहयोगियों पर छापेमारी की।

दरअसल, बीकानेर में 270 बीघा जमीन 79 लाख में खरीदी गई और इसके बाद तीन साल में 5 करोड़ में बेच दी गई। इसी को लेकर ईडी ने यह छापेमारी की है। बिकानेरा की कंपनी जिसमें रॉबट वाड्रा व उनकी मां मोरीन वाड्रा निदेशक हैं, उस कंपनी ने अपने सहयोगी महेश नागर को जमीन की पावर ऑफ अटार्नी दी थी। तो वहीं अशोक कुमार को जिस पार्टी ने जमीन वाड्रा ने बेची थी उन्हें खरीदने और बेचने की अटॉर्नी दी थी।

बता दें कि अशोक कुमार ड्राइवर के तौर पर महैश नागर के पास था। वाड्रा की इसी कंपनी के द्वारा जमीन की खरीद फरोख्त हुई थी। वाड्रा की कंपनी से एलीजिनी फिनलेज नाम की कंपनी ने करोड़ों रुपये में जमीन खरीदी थी जबकि वाड्रा ने मात्र 79 लाख में जमीन खरीदी थी। धोखाधड़ी में साथ देने वाले सरकारी कर्मचारियों की प्रापर्टी ईडी अटैच कर चुका है।

बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम के प्रावधानों को देखते हुए ये छापेमारी हुई है। इससे पहले इडी ने बीकानेर भूमि घोटाले में राजस्थान में विभिन्न जगहों पर छापेमारी कर चूकी है। लेकिन वाड्रा की जमीन बीकानेर में भी हैं इस बात को छिपाते हुए कांग्रेस ने घोटाले कर के उन्हे छिपाने की नीतियों को बरकरार रखा है। गौरतलब है कि सोनिया गांधी भी कई घोटालो में शामिल हैं जिनमें कोयला घोटाला व हेलिकॉप्टर घोटाला प्रमुख हैं।

Share This Post