Breaking News:

गर्व होगा ‘मेक माई ट्रिप’ के इस अधिकारी का ये बयान सुनकर. राजनाथ को दी वो सलाह- जो है उनके लिए सबसे ज्यादा जरूरी….

नई दिल्ली : ट्रैवेल पोर्टल ‘मेक माई ट्रिप’ ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हमले को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बयान पर सवाल करने वाली अपनी एक कर्मचारी के ट्वीट से खुद को अलग कर लिया है। ‘मेक माई ट्रिप’ ने एक बयान में कहा कि सुश्री सुचि की ओर से ट्विटर पर व्यक्त किए गए विचार उनके अपने निजी विचार हैं और वह मेक माई ट्रिप के राय के अनुरूप नहीं है। जिस भाषा का इस्तेमाल किया गया उसको लेकर हमें अफसोस है। इस महिला के ट्विट के जवाब में सिंह ने कहा था कि सभी कश्मीरी आतंकवादी नहीं हैं और उनका काम देश के सभी हिस्सों में शांति एवं सौहार्द सुनुश्चित करना है। 
जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों की बस पर सोमवार रात हुए हमले के बाद चारों ओर इसकी कड़ी निंदा की जा रही है। इसी क्रम में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी हमले की निंदा करते हुए कहा कि यह हमला आतंकियों की एक नीच हरकत है। उन्होंने आतंकवादी हमले की कश्मीर के लोगों द्वारा खुल कर निंदा किए जाने की सराहना भी की थी। हालांकि, ट्रैवलिंग वेबसाइट मेक माई ट्रिप की एडिटर और वेब ब्लॉगर सुश्री सिंह कालरा को गृह मंत्री के यह विचार पसंद नहीं आए और उन्होंने एक विवादित ट्वीट कर दिया। इस पर खुद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने करारा जवाब दिया, जिसके बाद महिला लेखक ने अपना ट्वीट ही हटा लिया। 
राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा था कि कश्मीर के प्रत्येक वर्ग ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों को निशाना बनाकर किए गए हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कायर आतंकवादियों की कड़ी निंदा की है। मैं राज्य के लोगों को सलाम करता हूं। कश्मीर में किसी ने भी आतंकवादी हमले को सराहा नहीं। इससे पता चलता है कि कश्मीरियत अभी जिंदा है। राजनाथ सिंह के इस ट्वीट पर तंज कसते हुए सुश्री सुचि ने लिखा कि ऐसे मौके पर कश्मीरियत की चिंता कौन करता है। आपका काम तसल्ली देना नहीं है। कायरों को घसीटकर लाओ और टांग दो। शुचि सिंह यहीं नहीं रुकी। उन्होंने आगे ट्वीट करते हुए लिखा कि दरअसल हम यह सोचने लगे हैं कि कश्मीरी मुस्लिम अमरनाथ यात्रियों को ना मारकर देश पर एहसान कर रहे हैं।
Share This Post