उन्मादियो को जमीन सुंघा देने पर आमादा अमित शाह.. कश्मीर रवाना हुए CRPF के 8 हजार अतिरिक्त योद्धा

भाड़े में मिले हथियार और भीख में मिले पैसे ले कर कुछ गद्दारों ने जैसे ही भारत के ही खिलाफ हथियार उठाया था वैसे ही उनको दिल्ली से मासूम आदि बोल कर उनको प्रोत्साहन दिया जाने लगा था . इस प्रोत्साहन को वामपंथी ब्रिगेड और कथित टुकड़े टुकड़े गैंग सेकुलरिज्म का नाम दे रहा था लेकिन उन्होंने अपने आप को न जाने क्या समझ लिया था ये भूल कर कि राष्ट्र के रक्षको के आगे उनकी औकात किसी मच्छर से ज्यादा नहीं थी जो किसी भी पल मसले जा सकते थे.

दंगे की धमकी देने वाले और धारा 370 हटाने वाले के हाथ जलाने की चुनौती देने वालों में हिम्मत है तो सामने आयें- शिवसेना

अब उन्ही आतंक के आकाओं और उन्ही सपोलों को सही जवाब मिला है भारत के गृहमंत्री अमित शाह के द्वारा .. जिस इच्छाशक्ति से उन्होंने इन उन्मादियो को कुचलने का अभियान छेड़ा है वो अपने आप में एक मिसाल बन गया है .. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार उत्‍तर प्रदेश, ओडिशा, असम और देश के अन्‍य हिस्‍सों से 8000 अर्धसैनिक बलों के जवानों को विमानों के जरिये जम्‍मू-कश्‍मीर भेजा जा रहा है। राज्‍य में सुरक्षाबलों की तैनाती लगातार जारी है।

आज शांति मिली श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आत्मा को.. “जहाँ हुए थे बलिदान मुखर्जी” … अब वो कश्मीर हमारा है

बता दें कि गृह मंत्रालय पहले ही जम्‍मू-कश्‍मीर में 10 हजार अतिरिक्‍त जवानों की तैनाती करने का ऐलान कर दिया गया है। सोमवार को जम्‍मू के 8 जिलों में 40 हजार सीआरपीएफ जवानों को तैनात किया गया है। इसी के साथ कश्मीर में किसी भी हालत को सख्ती से काबू करने के आदेश जारी किये गये हैं . सैनिको की इस आवागमन को देख कर गद्दारों में भय का माहौल है और सज्जनों ने सैनिको को फूल की बरसात कर के ससम्मान विदा किया है .. फिलहाल कश्मीर में हालात काबू है .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW