Breaking News:

बिस्मिल्लाह खान के पोते का किसने किया था ब्रेनवाश… उनके खुलासे ने कटघरे में खड़ा कर दिया एक पूरे समूह को

शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खान खान के पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने एक ऐसा खुलासा किया है, जिससे राजनैतिक   गलियारे में हड़कंप मच गया है तथा उनके इस खुलासे एक पूरा समूह नफरत के आरोपों से घिर गया है. बता दें कि बाबा भोलेनाथ की नगरी वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द अपना नामांकन भरेंगे. इसी बीच शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खान के पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने पीएम मोदी के नामांकन कार्यक्रम में मौजूद रहने की इच्छा जाहिर की है तथा इसके लिए नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है.

नेहरू खानदान को आज भी ब्राह्मणों के श्राप से शापित बताया एक बड़े नाम ने.. कौन है वो और कौन सा है वो शाप ?

बिस्मिल्लाह ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि वे वाराणसी में लोकसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन भरने आ रहे पीएम मोदी की टीम का हिस्सा बनना चाहते हैं. बता दें कि बिस्मिल्लाह परिवार को 2014 में भी नामांकन कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण भेजा गया था, लेकिन तब इस परिवार ने भाजपा के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया था. उस समय परिवार द्वारा कहा गया कि वह किसी भी राजनीतिक पार्टी के साथ नहीं जुड़ना चाहते हैं. नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने अपने पत्र में ये भी बताया है कि 2014 में कांग्रेस ने उनका ब्रेनवाश किया था, इसलिए उन्होंने 2014 में आमंत्रण अस्वीकार कर दिया था.

जलियांवाला बाग़ नरसंहार के 100 साल: यकीन नही होगा आपको ऊधम सिंह के खिलाफ गांधी और नेहरु के बयान सुन कर. पक्ष में बोला था वो सिर्फ एक वीर

नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने पीएम मोदी को पत्र लिखा और कहा कि मैं भारत रत्न (दिवंगत) उस्ताद बिस्मिल्लाह खान का पोता नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह आपसे निवेदन करता हूं कि जब आप हमारे शहर वाराणसी से लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने आएं तो, मैं उस दौरान आपके साथ रहना चाहता हूं. यह हमारे लिए बहुत ही यादगार और शुभकामनाओं भरा पैगाम होगा. उन्होंने पत्र में आगे लिखा कि मैं आपको याद दिलाना चाहता हूं कि एक साल पूर्व मैंने अपने दादा जी की एक शहनाई जिस पर वे धुन बजाया करते थे, आपके हाथों राष्ट्र को समर्पित की थी. जो वाराणसी के बड़ा लालपुर स्थित Trade Facilitation Centre and Craft Museum में रखी है. हमें आपसे उम्मीद ही नहीं बल्कि पूरा यकीन है कि आप हमें अपने नामांकन कार्यक्रम में जरूर आमंत्रित करेंगे.

ट्विटर के बाद फेसबुक ने जारी की वर्ल्ड टॉप लीडर्स की लिस्ट.. डोनाल्ड ट्रंप को भी पीछे छोड़ा मोदी ने

बिस्मिल्लाह ने कहा, ‘2014 में, हमें राजनीति की दुनिया के बारे में कोई जानकारी नहीं थी, हम साधारण लोग हैं, अब भी हमें राजनीति के बारे में कोई जानकारी नहीं हैं. हम संगीतकार है जो धुन बनाया करते हैं. लेकिन लोकल कांग्रेसी हमारे घर आए और हमें कहा गया कि जैसा हम कहें वैसे ही करो और उनके पीछे, मेरे परिवार ने पीएम मोदी जैसे महान नेता के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया था.’

कांग्रेस ने कहा था कि ख़त्म करेंगे देशद्रोह क़ानून… अब भाजपा ने बताया कि देशद्रोह क़ानून पर उनका क्या होगा स्टैंड

उन्होंने आगे कहा कि हमें बहुत पछतावा है कि कांग्रेस के कहने पर हमारे परिवार में बुजुर्गों ने ऐसा किया. हमने पीएम मोदी द्वारा दिए गए महान सम्मान का अपमान किया, इसके लिए हमें खेद है. बिस्मिल्लाह ने आगे बताया, ‘हमारे परिवार को जानने वाले स्थानीय कांग्रेसी नेताओं ने परिवार में बड़ों का ब्रेनवॉश किया और उन्हें उनकी इच्छा के अनुसार करने को कहा. ये नेता मेरे दादाजी के समय से हमारे परिवार के करीब हैं और इसलिए मैं उनके नामों का खुलासा नहीं करना चाहता.’

जय श्रीराम: सनातन के आराध्य प्रभु श्रीराम के जन्मोत्सव “श्रीराम नवमी” की संसार के सभी सनातनियों को हार्दिक शुभकामनाएं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post