भारत की इस दरियादिली की कितनी कद्र करेगा पाकिस्तान ? 6 और पाकिस्तानियों को जिदंगी मिलेगी भारत के इलाज से

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को सभवत: यह बहुत अच्छे से मालूम है कि पाक ने कभी भारत का भला नहीं चाहा। भारत के लिए नफरत पाक वालों के खून में बसी हुई हैं । और वो आए दिन भारत पर आतंकी हमला करते रहते है । लेकिन उसके बावजूद भी सुषमा स्वराज ने पाक वालों के लिए दरियादिली दिखाई हैं।

आपको बता दे कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाक के छह नागरिकों का मेडिकल वीजा मंजूर किए जाने की घोषणा की।

सुषमा स्वराज ने ट्विटर हैंडल से लिखा है कि पाक स्थित इंडियन उच्चायोग की सलाह पर हमने आयशा आरिफ, मुहम्मद सईद, अब्दुल रजाक चौधरी, शाहिद इकबाल, मुहम्मद बशरत भट्टी व रजा अली मंगवानो को हिंदुस्तान में उपचार के लिए मेडिकल वीजा देने को मंजूरी प्रदान की है।
दोनों राष्ट्रों के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बावजूद सुषमा पाकिस्तानी नागरिकों को मेडिकल वीजा देने पर सहानुभूतिपूर्वक फैसला करती रही हैं।
गौरतलब है कि ये पहली बार नहीं है जब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाक के नागरिकों का मेडिकल वीजा मंजूर किया हो ।

कुछ ही दिन पहले सुषमा स्वराज ने 12 वर्ष के बच्चे व उसके माता-पिता को वीजा दिया था, जो माने जा रहे थे कि वे पाक के नागरिक हैं ।
बीएसएफ ने इस वर्ष मई महीने में इस लड़के को गिरफ्तार किया था और उसे फरीदकोट के एक निगरानी घर में रखा गया था। इस विषय में पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार की एक रिएक्शन ने सुषमा का ध्यान खींचा था।
उल्लेखनीय है कि हिंदुस्तान की ओर से था। पाक ने हिंदुस्तान पर आरोप लगाया था कि वह उसके चुनिंदा नागरिकों को मेडिकल वीजा दे रहा है औऱ यह करूणा की भावना दर्शाना नहीं बल्कि सोची समझी राजनीति है।

Share This Post