यदि दिक्कत सिर्फ मोदी से होती तो “जय हिन्द” का विरोध क्यों होता ? खिलाफ में उठी पहली आवाज

पहले भारत माता की जय का विरोध हुआ तो तथाकथित सेकुलर वर्ग ने कहा कि कोई दिक्कत नहीं , फिर शुरू हुआ वन्देमातरम का विरोध लेकिन उसके बाद भी बुद्धिजीवी वर्ग ने इस विरोध को जायज बताया , फिर उन्होंने कहा कि वो राष्ट्र गान पर भी खड़े होना आदि सही नहीं समझते तो उसको भी राजनीति के एक खास वर्ग ने भी एकदम सत्य साबित करते हुए उस कृत्य पर मुहर लगा दी.. पर अब शुरू हो गया जय हिन्द का भी विरोध.. आगे क्या होगा ये सोचना भी जरूरी है .

ज्ञात हो कि एयर इण्डिया के द्वारा यात्रियों का अभिवादन जय हिन्द से कहने के बाद अब महबूबा मुफ़्ती ने उस के खिलाफ बगावती सुर अपना लिए है .  एयर इंडिया द्वारा जारी सर्कुलर को लेकर पीडीपी प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “आश्चर्य की बात है कि लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही देशभक्ति के जोश ने आसमान को भी नहीं बख्शा।”

एयर इंडिया ने सोमवार को एक सर्कुलर जारी किया था। इसके मुताबिक, एयर इंडिया के फ्लाइट में हर घोषणा के बाद सभी कर्मचारियों को ‘जय हिंद’ बोलना होगा। एयर इंडिया के सर्कुलर में कहा गया है कि तत्काल प्रभाव से हर घोषणा के अंत में उत्साह के साथ ‘जय हिंद’ बोला जाए। नीचे देखिये महबूबा मुफ़्ती का वो ट्विट –

 

Share This Post