बिहार में बाढ़ का कहर, अबतक 55 लोगों की मौत…

बिहार में बाढ़ का कहर जारी है. दरभंगा-सीतामढ़ी रेलखंड में रेलवे की पटरियों पर बाढ़ का पानी बढ़ गया है. बाढ़ में मरने वाली की संख्या बढकर 55 हो गई है, रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि राहत बचाव का काम बाढ़ प्रभावित इलाके में तेजी से किया जा रहा है. हम लोग सजग और सतर्क है. मंगलवार को विधानसभा में नीतीश कुमार ने इस बाढ़ को फ़्लैश फ्लड कहा है. काफी समय बाद बिहार और नेपाल में इतनी वर्षा हुई है.

उन्होंने कहा कि समय से पहले बाढ़ आई है और इसके बाद सुखा भी हमारे लिए चुनौती बनेगा. प्राकृतिक आपदा पर किसी का नियंत्रण नहीं होता है. प्रदेश के 12 जिलों में बाढ़ की आफत है और अबतक 25 लोगों की जान जा चुकी है.

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने बाढ़ त्रासदी को लेकर एक बार फिर सरकार पर निशाना साधा है. मंगवार को विधान परिषद में राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार में रोज़ बांध टूट रहे है. लेकिन नीतीश कुमार सिर्फ हवाई दौरा कर रहे है, ना तो बाढ़ से पीड़ित लोगों को खाना पहुचाया जा रहा है ना ही पीने का पानी, ऐसे में लोग चूहा तक खाने को मजबूर है. जब सरकार कुछ खाने के लिए नहीं देगी तो लोग चूहा ही खायेंगे. नीतीश को सड़क मार्ग से जाकर बाढ़ की स्थिति देखनी चाहिए, तभी हकीकत का पता चलेगा.

Share This Post