मायावती पर टिकट बेचने का आरोप लगाने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता का निधन

नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अखिलेश दास का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। 56 वर्ष के अखिलेश दास मंगलवार रात अपने घर में बेहोश हो गये थे जिसके बाद उन्हें मेडिकल कॉलेज के लारी हार्ट सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि जिस वक्त उन्हें दिल का दौरा पड़ा उस वक्त घर में वो अकेले थे।

उत्तर प्रदेश विधानससभा चुनाव से ठीक पहले अखिलेश दास कांग्रेस में शामिल हुए थे। इससे पहले वह लंबे समय तक बसपा से जुड़े रहे. लखनऊ की बाबू बनारसी दास विश्वविद्यालय (बीबीडी) के चेयरमैन अखिलेश दास यूपीए सरकार में केंद्रीय इस्पात मंत्री थे। इसके साथ ही अखिलेश दास भारतीय बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष थे। उन्होंने अपने पिता के नाम पर मैनेजमेंट, मेडिकल और इंजीनियरिंग के कई कॉलेज खोले। लखनऊ से प्रकाशित होने वाले कई हिंदी और उर्दू अखबारों में उनकी हिस्सेदारी थी।

बसपा में अखिलेश दास राष्ट्रीय महासचिव पद पर रहे। 2014 में बसपा से राज्यसभा का टिकट नहीं मिलने से नाराज अखिलेश ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने मायावती पर टिकट बेचने का आरोप भी लगाया था। 2014 के अंत में उन्होंने ये कहकर बसपा छोड़ दी थी कि मायावती ने दोबारा राज्यसभा सांसद बनाने के लिए उनसे 100 करोड़ रुपए की मांग की थी।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW