ऐसा रहा सुप्रीम कोर्ट का फैसला .. आखिर क्यों इसको जीत बता रही हैं ममता बनर्जी ?

जिस मामले से लगातार भागते जा रहे थे कोलकाता पुलिस के प्रमुख राजीव कुमार आख़िरकार अब उस मामले में जो सुप्रीम फैसला आया है उसका उनको पालन करना होगा . पुलिस प्रमुख को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार सीबीआई के आगे हाजिर होना ही होगा और उनको जांच में पूरा सहयोग भी करना होगा . सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल में चल रहे घमासान के बीच सीबीआई की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का निर्देश दिया है. राजीव कुमार मेघालय के शिलांग में सीबीआई के सामने पेश होंगे.

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षा वाली तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर, राज्य के पुलिसमहानिदेशक और चीफ़ सेक्रेटरी को नोटिस जारी करते हुए 19 फ़रवरी तक अपना जवाब दाख़िल करने के निर्देश दिए.सीबीआई की तरफ से कोर्ट में पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सोमवार को सीजेआई रंजन गोगोई और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच से कहा था कि पश्चिम बंगाल में असाधारण स्थिति पैदा हो गई है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि कमिश्नर राजीव कुमार ने कभी नहीं कहा कि वे सीबीआई के सामने पेश नहीं होंगे। ममता ने कहा, “राजीव कुमार ने कहा था कि वह सहमति से एक जगह पर मिलना चाहते हैं। अगर सीबीआई उनसे कोई पूछताछ करना चाहती है आ सकती है और बैठकर बात कर सकती है . सीबीआई की याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने कहा था कि अगर कोलकाता पुलिस कमिश्नर ने सबूतों को मिटाने के बारे में सोचा और इसके सबूत मिले तो हम उन पर ऐसी कड़ी कार्रवाई करेंगे, जिससे उन्हें पछताना पड़ेगा.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW