सिर्फ सुदर्शन ने बताया था कि आतंकवाद से जुड़ी है रैल दुर्घटनाए, और इसे साबित कर दिया फुरकान ने

पिछले कई महीनों से रेल हादसों में सैकड़ों लोगों की जान चली गयी है और अभी भी ये खतरा टला नहीं है. रेल लाइन अभी भी आतंकियों के टारगेट पर है जिसे सुदर्शन पहले हे बता चूका है. इतनी घटनाओं के बाद भी शासन के सुरक्षा घेरे को बार-बार भेद दिया जा रहा है. सुदर्शन ने पहले ही कहा था कि ये काम एक साजिश के तहत हो रहा है. हालाँकि इस बार एक बड़ा हादसा होते-होते बचा लिया गया.

लेकिन एक बार फिर हुई इस चूक ने लोगों के मन में डर बिठा दिया है.

 शनिवार शाम गाजियाबाद के मुरादनगर में स्थानीय लोगों ने एक बड़ा रेल हादसा होते-होते बच लिया. मुरादनगर में कुछ बच्चों ने एक संदिघ्ध युवक को पोल संख्या 38-19 के पास पटरियों के साथ छेड़-छाड़ करते हुए देखा. जब बच्चे उसके पास पहुंचे तो वह पटरियों को आपस में जोड़ने वाली फिश प्लेट को खोल रहा था और लगभग उसने प्लेट पूरी अलग कर दी थी.

पूछताछ करने पर वह भागने लगा जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उसका पीछा कर पकड़ लिया और उसकी धुनाई लगा दी. जिसके कुछ देर बाद आरोपी शख्स को रेलवे स्टेशन ले जाकर स्टेशन मास्टर को सौंप दिया. सूचना पर आरपीएफ, जीआरपी और स्थानीय पुलिस के अधिकारी पहुंचे .

ख़बरों के अनुसार आरोपी की पहचान फुरकान के रूप में हुई है और वह बुलंदशहर का रहने वाला है.

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. वहीं इस बात का भी अंदेशा लगाया जा रहा है कि फुरकान अन्य रेल हादसों में भी लिप्त था. वहीँ रेलवे ने ट्रैक को ठीक कर दिया है और ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गयी है. बता दें की घटना के कुछ देर बाद ही इस ट्रैक से देहरादून एक्सप्रेस को गुजरना था. 

Share This Post

Leave a Reply