कांवड़ यात्रा में 16 किलो सोने के आभूषण पहन शामिल हुए ‘गोल्डन बाबा’,


सुधीर मक्कड़, जिन्हें अब ‘गोल्डन बाबा’ के नाम से जाना जाता है, वह यहां चल रही कांवड़ यात्रा में सबसे आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. वह पिछले 26 सालों से कांवड़ यात्रा कर रहे हैं. उन्होंने अपने शरीर पर कई किलो का सोने के आभूषण पहने रहते हैं. इस बार उन्होंने जो आभूषण पहने हैं उनका वजन 16 किलोग्राम से भी अधिक है.

उन्होंने कहा, मैं पिछले 26 सालों से कांवड़ यात्रा में भाग ले रहा हूं और पिछले साल तक मैं 26 किलो सोना पहनता था, लेकिन खराब स्वास्थ्य के चलते मैंने इसे अब कम कर दिया है.

गोल्डन बाबा ने कहा कि, “शुरुआती दिनों में मैं 2-3 ग्राम के सोने के गहने पहनता था, लेकिन आज मैं कई किलो सोने के आभूषण पहनता हूं. इन गहनों के लिए मैंने कभी भी किसी से कोई योगदान या ऋण नहीं मांगा. इन्हें खरीदने के लिए मैंने खुदके पैसे खर्च किए हैं.”

इन गहनों में कई चेन जिसमे देवी-देवताओं के लॉकेट, अंगूठी और ब्रेसलेट शामिल हैं.

गोल्डन बाबा का अपना एक समूह है जिसमें 250-300 लोग शामिल हैं और उनकी कांवड़ यात्रा के दौरान भोजन, पानी और एम्बुलेंस जैसी बुनियादी सुविधाएं हमेशा उपलब्ध रहती हैं.

Dailyhunt

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share