अटल निश्चय सफल.. लेह की जामा मस्जिद पर लहराया तिरंगा

ये वो कार्य था जो देश का सपना था और ये सपना पूरा होते ही दिखाई देने लगा है वो सब कुक जो चाह रहा था ये देश.. न जाने किस आधार पर इसका विरोध हो रहा लेकिन इसका समर्थन करने वालों को इसके सत्परिनाम साफ़ साफ दिखाई देने लगे हैं.  कश्मीर में वो सब कुछ हो रहा है जो चाह रहा था ये देश .. जहाँ भारत के अन्य स्थानों पर मौजूद मदरसों पर तिरंगा फहराने के मामले में कई बार टकराव के हालात बन गये थे तो वहीँ अब ये सब कुछ दिखाई देने लगा है जम्मू कश्मीर में .

ध्यान देने योग्य है कि जम्मू कश्मीर के लेह क्षेत्र में आने वाली प्रमुख जामा मस्जिद के ऊपर तिरंगा फहरा दिया गया है . लेह में इस निर्णय का किसी ने भी विरोध नहीं किया है और वो सब सरकार के फैसले के साथ खड़े हो गये हैं . सरकार के निर्णय से खुश मुस्लिम समुदाय के लोगों ने लेह टाउन में सैकड़ों साल पुरानी जामा मस्जिद के ऊपर तिरंगा झंडा फहराया. मीडिया से बात करते हुए लेह के लोगों ने कहा कि   “लेह से लेकर कन्याकुमारी तक हम सभी भारतीय हैं. हिंदुस्तान के लिए हम अपनी जान भी देंगे.

आगे उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अटूट हिस्सा हैं. मोदी जी के इस फैसले से हम बहुत खुश हैं. लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने की पुरानी मांग अब पूरी हुई. अब लेह में बहुत तरक्की आएगी. ” लद्दाख के लोगों की लम्बे समय से मांग थी कि उन्हें केंद्र शासित राज्य का दर्जा मिले. मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल पास कराकर लद्दाख को पुदुच्चेरी की तरह केंद्र शासित राज्य घोषित किया है, यहां विधानसभा चुनाव नहीं होंगे. जम्मू-कश्मीर को अब दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटा जाएगा.

Share This Post