एयरफोर्स के सैनिको के हत्यारे यासीन मलिक को जमीन सुंघा दी मोदी सरकार ने.. हर तरफ गूंजा – “भारत माता की जय” का नारा

भारत सरकार ने उस कार्य को किया है जो न सिर्फ कश्मीरी हिन्दुओ बल्कि देश के कोने कोने से उठ रही मांग थी . एक ऐसा हत्यारा , एक ऐसा देश द्रोही जो खुद को भारत के दिए अन्न से जिन्दा रखता था और उसी अन्न को खा कर वो भारत पर भी उगलता था जहर .. आख़िरकार उसके फन को कुचल दिया गया है और उसके समूह को अब आतंकी घोषित कर दिया गया है . मोदी सरकार के इस एलान के बाद देश के विभिन्न कोनो में वन्देमातरम के उद्घोष शुरू हो गये हैं .

ज्ञात हो कि एक लम्बी जद्दोजहद के बाद आखिरकार नरेंद्र मोदी सरकार ने यासीन मलिक के नेतृत्व वाले जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए शुक्रवार को आतंकवाद विरोधी कानून के तहत प्रतिबंधित कर दिया. ये वही दुर्दांत था जो पहले आतंकी बन कर सेना की गोलियों के निशाने पर था लेकिन भारत में बाद में कथित सेकुलरिज्म की आड़ में खुद का नाम अलगाववादी रखवा कर भारत की ही सुविधाओं पर करने लगा था एशो आराम .

आख़िरकार उसके एशोआराम पर अब नकेल लगाते हुए मोदी सरकार ने उसको सुंघा दी है जमीन और ताजा समाचार मिलने तक आतंकी से अलगाववादी और अब फिर आतंकी यासीन मलिक के नेतृत्व वाले जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के खिलाफ सख्त कदम उठाते हूए शुक्रवार को आतंकवाद विरोधी कानून के तहत प्रतिबंधित कर दिया. संगठन को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित किया गया है. वहीं, यासीन मलिक गिरफ्तार फिलहाल वह जम्मू की कोट बलवल जेल में बंद है. मलिक को 22 फरवरी को हिरासत में लिया गया था. यह जम्मू-कश्मीर में दूसरा संगठन है जिसे इस महीने प्रतिबंधित किया गया है. इससे पहले, केंद्र ने जमात-ए-इस्लामी जम्मू-कश्मीर पर प्रतिबंध लगा दिया था.

 

 

Share This Post