Breaking News:

जीएसटी एक क्रांतिकारी बिल है, इससे देश में एक समान टैक्स प्रणाली होगी : अरुण जेटली

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज लोकसभा में जीएसटी से जुड़े चार बिल पेश किए। ये चारों बिल सेंट्रल जीएसटी (सीजीएसटी), इन्टीग्रेटेड जीएसटी (आईजीएसटी), यूनियन टेरिजरीज जीएसटी (यूटीजीएसटी) तथा जीएसटी मुआवजा कानून है। इस दौरान लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहे। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि देश में एक समान टैक्स प्रणाली होगी।

वित्त मंत्री ने लोकसभा में कहा कि इसके अधिकारों का दुरुपयोग न हो ये ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि सिफारिशों और सर्वसम्मति के आधार पर जीएसटी परिषद की अब तक 12 बैठकें हो चुकी हैं। वित्त मंत्री ने इसे एक क्रांतिकारी बिल बताते हुए सबके हित वाला बिल करार दिया।

जेटली ने कहा कि लग्जरी सामानों पर टैक्स में से 28 फीसदी के बाद के हिस्से का इस्तेमाल राज्यों का घाटा पाटने के लिए किया जाएगा। वहीं, जीएसटी की बहस में जेटली के बयान पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने कहा कि जीएसटी कानून पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा उठाया गया गेमचेंजर कानून था।

कांग्रेस ने जीएसटी लागू करने की कोशिशों को तब विपक्ष में बैठी बीजेपी ने बाधित किया जिससे देश को 12 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। मोइली ने कहा कि जीएसटी कानून केन्द्रीय कानून की सबसे बड़ी चोरी का मामला है। कांग्रेस सरकारों ने अपने कार्यकाल के दौरान पूरी कोशिश की कि इसे लागू करके देश की जीडीपी को गति दी जाए लेकिन प्रमुख विपक्षी दल ने इसके रास्ते में रोढ़े अटकाए।

Share This Post