क्या नरेंद्र पटेल भाजपा को बदनाम करने के लिए देशद्रोही हार्दिक पटेल द्वारा फेंका गया पासा तो नहीं??


विपक्ष भाजपा पर आरोप लगाता है जो की बाद में गलत साबित होते हैं. लाख प्रयासों के बावजूद भी विपक्ष भाजपा को गलत साबित नहीं कर पाता. कभी बीफ बैन पर घसिटने की कोशिश करता है तो कभी गैर हिंदुओं विरोधी बताकर बेबुनियादी आरोप लगाता है. लेकिन सत्य क्या है वो भली-भाती सभी जानते हैं. इस बार भी गुजरात में भाजपा पर आरोप लगाए गए हैं. दरअसल, गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है.

ऐसे में पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल ने दावा किया है कि बीजेपी ने उन्हें खरीदने की कोशिश की है. पटेल के मुताबिक, उन्हें एक करोड़ रुपये की पेशकश की गई. आपको बता दें कि नरेंद्र पटेल रविवार शाम 7 बजे ही बीजेपी में शामिल हुए थे और रात में 11 बजे उन्होंने मीडिया को बताया कि BJP ने उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपए का पेशकश की है. नरेंद्र पटेल के मुताबिक उन्हें 10 लाख रुपए एडवांस के तौर पर दिए गए हैं. साथ ही बाकी के 90 लाख रुपए उन्हें आज मिलने वाले थे.
यहीं नहीं, पाटीदार आंदोलन के संयोजक नरेंद्र पटेल 10 लाख रुपए नकद लेकर मीडिया के सामने भी आए. वहीं हार्दिक पटेल के गुट का कहना है कि वे धीरे-धीरे सबूत सामने लाएंगे. सभी जानते है इस कलयुग में जूठे तथ्य और जूते सबूत बेहत आसानी से मिल जाते है लकिन सत्य उतनी ही मुश्किल से लेकिन सत्य की शक्ति के सामने कुछ नहीं टिक पाता. भले ही विपक्ष भाजपा पर जूठे आरोप लगाता रहे या फिर किसी और तरह से भाजपा को अपराधी करार देने की कोशिश करे अंत में जीत सत्य की ही होगी.  

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share