हार्दिक की बची खुची पोल अब उसके दोस्त ने ही खोली… बताया कि चंदे का पैसा कहां खाया और कहां लगाया

आंदोलन के नाम पर अपनी मह्त्व्कंक्षाये साधना, लोगों को आंदोलन के नाम पर भड़का कर अपनी राजनीति चमकाना यही हुआ है गुजरात में, आपको बता दे कि

हार्दिक के बारे में उनके ही करीबी ने एक और खुलासा किया ओर ये खुलासा चौकाने वाले है.
ज्ञात हो कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) नेता हार्दिक पटेल के करीबी सहयोगी तथा राजद्रोह के एक मामले में उनके साथ सह-आरोपी दिनेश बांभणिया

ने आज आरोप लगाया कि हार्दिक ने हाल ने आंदोलन के लिए इकट्ठा किये गये धन से अपने लिए कई शहरों में फ्लैट खरीदे हैं

तथा उन्होंने हाल में गुजरात

विधानसभा चुनाव में बिना किसी को भरोसे में लिये कांग्रेस के साथ टिकटों की सौदेबाजी की थी.
दिनेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में 30 लोगों की एक सूची भी जारी की और दावा किया कि इनके लिए हार्दिक ने कांग्रेस से गुपचुप टिकटों की मांग की थी.
उन्होंने आरोप लगाया कि हार्दिक ने आंदोलन के पैसे से अहमदाबाद, वीरमगाम, सूरत, वडोदरा, भरूच समेत अन्य स्थानों कई फ्लैट खरीदे हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि हार्दिक ने उनके और उनके करीबियों की सेक्स सीडी को षडयंत्र बताया था पर, वह दिन में मां-बहनों की रक्षा की बात करते हैं और रात को

शराब पीकर खुद ही अय्याशी करते हैं.
दिनेश ने सवाल पर सवाल करते हुए पूछा कि आरक्षण आंदोलन में मारे गये 13 पाटीदारों के नाम पर जमा किये गये पैसे उनके परिजनों को हार्दिक कब देंगे.

पास की नयी कोर कमेटी बनाने का क्या मतलब है. इसके नेता एक एक कर क्यों संगठन छोड़ रहे हैं.

Share This Post