बाबर के तरफदार हाजी महबूब के खिलाफ उबल पड़ा श्रीराम का धाम.. संतो का एक बड़ा एलान

ये वो हाजी इकबाल हैं जिनके अब्बा को और इनको भी अयोध्या के कुछ सेकुलर संत अपने वाहन में साथ बैठा कर मुकदमा लड़ने जाते थे.. हिन्दुओ के पवित्र धर्मनगरी अयोध्या में ये आराम से रहते हैं और इनके अब्बा की मौत के जनाज़े में कई साधू संत न सिर्फ शामिल होते हैं बल्कि फूट फूट कर रोते भी हैं . संतो को लगता था की जैसे वो हैं वैसे ही हाजी इकबाल भी हैं लेकिन दशको से तम्बू में पड़े श्रीराम के लिए अदालत की आस देखते ये संत नहीं जानते थे की हाजी को श्रीराम ही नहीं, अदालत पर भी विश्वास नहीं है..

एक स्टिंग के बाद अयोध्या के धर्मनिरपेक्ष संतो के ऊपर आघात जैसा लगा क्योकि उन्हें सब अपने जैसे ही लगते थे.. खानदानी रूप में अदालत में बाबर की मस्जिद के पक्ष में और श्रीराम के विरुद्ध खड़े हाजी इकबाल ने एक ख़ुफ़िया कैमरे में यहाँ तक कह डाला है की अगर अदालत भी फैसला मन्दिर के पक्ष में दे देती है तो भी किसी में हिम्मत नहीं है की वो वहां पर एक ईंट भी रख देगा.. इतना ही नहीं उसके लिए हाजी इक़बाल ने बाकायदा धमकी भी दे डाली है जिस पर अब उबल पड़े हैं अयोध्या के संत ..

ऐसी राष्ट्रविरोधी आवाज को हवा देने वाली हाजी इकबाल के खिलाफ प्रभु श्रीराम के भक्त व् अयोध्या की तपस्वी छावनी के उत्तराधिकारी महंत श्री परमहंस दास ने गंभीर आरोप लगाते हुए कोतवाली अयोध्या में तहरीर देकर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है. उन्होंने यह भी कहा है कि यदि पुलिस में मुकदमा दर्ज नहीं होता है तो वह उस कोर्ट की शरण में जाएंगे जिसका आदेश न मानने का हाजी इकबाल एलान कर रहा है .. इसी के साथ अयोध्या के कई अन्य संत भी आक्रोशित दिख रहे   हैं .

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग देने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –

http://sudarshannews.in/donate-online/


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share