घुसपैठियों को भगाने के लिए असम के बाद पूरे देश में कब लागू होगी NRC? .. इसके जवाब में गृहमंत्री अमित शाह ने जो कहा उससे गरमाई सियासत

घुसपैठियों को देश से बाहर करने को लेकर केन्द्रीय गृहमंत्री  अमित शाह के एक बयान से सियासत गरमा गई है. गृह मंत्री अमित शाह ने एलान कर दिया है कि असम के बाद अब पूरे भारत में एनआरसी लाया जाएगा और सभी अवैध प्रवासियों को वैध तरीकों से देश से बाहर कर दिया जाएगा. अमित शाह ने यह भी कहा कि देश की जनता ने 2019 के आम चुनाव के फैसले के माध्यम से देशभर में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करने पर अपनी मुहर लगा दी है.

एक कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि एक भी ऐसा देश नहीं है, जहां कोई भी जाकर अवैध रूप से बस सके. मैं आपसे पूछता हूं कि क्या आप अमेरिका में जाकर बस सकते हैं? आप नहीं बस सकते. तो फिर कोई भारत में कैसे आकर बस सकता है? सीधी सी बात है.’ गृह मंत्री ने पूछा कि इसमें राजनीति कहां से आ गई. उन्होंने कहा, ‘अगर आप ब्रिटेन, नीदरलैंड या रूस जाकर अवैध रूप से बसने की कोशिश करते हैं तो कोई आपको अनुमति नहीं देगा तो कोई भारत आकर कैसे बस सकता है. देश इस तरह नहीं चलते. समय की जरूरत है कि देश की जनता का एक राष्ट्रीय रजिस्टर बने तथा ये बनेगा.’

गृहमंत्री शाह ने कहा कि हमने अपने चुनाव घोषणापत्र में देश की जनता से वादा किया था कि केवल असम में नहीं बल्कि पूरे देश में हम एनआरसी लाएंगे और देश की जनता का एक रजिस्टर बनाएंगे तथा बाकी (अवैध प्रवासियों) लोगों के लिए कानून के हिसाब से कार्रवाई होगी.’ गृह मंत्री ने कहा कि एनआरसी का पूरा विस्तार राष्ट्रीय नागरिक पंजी है, नाकि राष्ट्रीय असम पंजी. इसलिए यह पूरे देश में लागू होना चाहिए और मेरा मानना है कि देश की जनता की एक सूची होनी चाहिए तथा ये होगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share