Breaking News:

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद पकड़ेगा नई रफ़्तार.. HRD मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने किया नई पहलों का स्वागत

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) की अनेक पहलों का शुभारंभ किया. इन पहलों में मार्गदर्शन और मार्गदर्शक माध्यम से सुविधा, डिप्लोमा कोर्सों के लिए मॉडल पाठ्यक्रम, आकांक्षी महिला उद्यमियों के लिए अपशिष्ट प्रबंधन उत्प्रेरक (डब्ल्यूएडब्ल्यूई समिट 2019) और  समस्त फेकल्टी का फीडबैक शामिल हैं.

एआईसीटीई की अनेक पहलों का शुभारंभ करते हुए HRD मंत्री निशंक ने कहा कि ‘डब्ल्यूएडब्ल्यूई समिट 2019’ एक बेहतरीन पहल है क्योंकि महिलाओं के अपने हाथों में ही कौशल है और इससे वे अधिक सशक्त बनेंगी और प्रेरित होंगी. उन्होंने बताया कि यह डब्ल्यूएडब्ल्यूई शिखर सम्मेलन नवंबर-दिसंबर 2019 में आयोजित किया जाएगा. इसे अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) और भारतीय अपशिष्ट प्रबंधन संस्थान (आईआईडब्ल्यूएम) जयपुर में संयुक्त रूप से आयोजित किया जाएगा.

HRD मंत्री निशंक ने आगे यह भी कहा कि यह सम्मेलन युवा स्नातकों में उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के लिए चलाई जाने वाली गतिविधियों की एक श्रृंखला का हिस्सा होगा. केन्द्रीय मंत्री श्री निशंक ने कहा कि चूँकि हमारा लक्ष्य विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर रहना है तो ऐसी पहलों के माध्यम से तकनीकी शिक्षा को दुनिया भर में शीर्ष पर ले जाने के मार्ग को आसान बनाया गया है. उन्होंने कहा कि आज के प्रतिस्पर्धा वाले युग में बेहतर सूझबूझ के लिए छात्रों को तैयार करने हेतु नए पाठ्यक्रमों का सृजन आवश्यक हो गया है. डिप्लोमा कोर्सों के लिए मॉडल पाठ्यक्रम इस दिशा में किया गया एक प्रयास है.

रमेश पोखरियाल ने कहा कि संकाय योजना के समस्त फीडबैक से शिक्षा की गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी होगी. यह योजना छात्रों और शिक्षकों दोनों को ही प्रोत्साहित करेगी. उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि इन योजनाओं को शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शुरू किया गया है और ये नए भारत के सृजन में योगदान देंगी. उन्होंने आगे कहा कि मार्गदर्शन और मार्गदर्शक के माध्यम से सुविधा जुटाना भी एक बहुत अच्छी पहल है, जिसमें शीर्ष संस्थान अन्य संस्थानों को सलाह देंगे ताकि वे अपनी रैंकिंग में सुधार करके परामर्श देने वाले संस्थानों की सर्वोत्तम प्रक्रियाओं का अनुसरण कर सकें. श्री निशंक ने कहा कि शिक्षक (मार्गदर्शक) अन्य संस्थानों का उनकी बेहतरी के लिए मार्गदर्शन करेंगे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW