सबरीमाला की पवित्रता भंग करने के बाद पूरे केरल के हिन्दुओ कर भीषण अत्याचार.. 1700 धार्मिक गिरफ्तार, RSS कार्यालय को आग लगाईं

वामपंथी शासन में इस हिन्दुओ के हालत पर अगर कोई कोई गौर कर ले तो उसके रोंगटे खड़े हो जायेगे .. ये वही वामपंथी हैं जो कश्मीर में पत्थरबाजो के लिए पुलिस और सेना के साथ सरकार से रहम की अपील करते हुए अदालत तक का दरवाजा खटखटाया करते हैं .. लेकिन अब मामला हिन्दू से जुड़ा है और आहत हो रही हैं हिन्दुओ की भावनाएं , इसीलिए हर तरफ छाई है एक ऐसी ख़ामोशी जिसको तोड़ रही हैं केवल प्रताड़ित हिन्दुओ की चीखें .

ज्ञात हो कि हिन्दुओ के पावन और पवित्र तीर्थ सबरीमाला मंदिर में 50 वर्ष से कम उम्र की दो महिलाओं के प्रवेश को लेकर हिंसा अब भी जारी है जिसमें कुछ अज्ञात लोगों ने भाजपा सांसद के पैतृक मकान पर शनिवार को एक देशी बम फेंका और यहां स्थित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यालय को आग लगा दी.  इतना ही नहीं ताबड़तोड़ गिरफ्तारियो का दौर भी जारी है जिसके लिए पुलिस बल प्रयोग कर रही है . अब तक लगभग १७०० हिंदूवादी कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार करने की खबर है .

हिन्दुओ के साथ हो रही ऐसी प्रताड़ना पर भारतीय जनता पार्टी ने केरल की कम्युनिस्ट सरकार और वामपंथी मुख्‍यमंत्री पिनाराई विजयन पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्‍य सरकार वोटबैंक की राजनीति करती है. बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने कन्‍नूर में हुई हिंसा को पिनाराई सरकार की साजिश बताया. उन्‍होंने कहा कि केरल सरकार ने पार्टी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया है. केरल सरकार सबरीमाला के नाम पर तुष्टिकरण की राजनीति करती है.

Share This Post